न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार से बरामद एके-56 का हजारीबाग से क्या है कनेक्शन, जांच करेगी पुलिस

नक्सल समर्थकों व सफेदपोशों पर होगी कार्रवाई, जब्त होगी संपत्ति

213

Chatra: बिहार से बरामद AK-56 के जखीरा के हजारीबाग कनेक्शन की पुलिस गहनता से जांच कर रही है. पुलिस मामले के हर पहलु की बारीकी से जांच कर रही है. प्रथम दृष्टया बरामद हथियार विदेशी नहीं लगते हैं. ऐसे में यह हथियार कहां से आये और इसका झारखंड कनेक्शन कैसे है इस मामले की पड़ताल की जा रही है. मामले में संलिप्त किसी भी तस्कर को बख्शा नहीं जाएगा. उक्त बातें उतरी छोटानागपुर प्रमंडल के डीआइजी पंकज कंबोज ने चतरा में कहीं. वह जिले में चलाये जा रहे नक्सल विरोधी अभियान व कांडों के अनुसंधान की समीक्षा करने चतरा पहुंचे थे.

इसे भी पढ़ें- बीजेपी सांसद रविंद्र राय ने जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी पर ठोका 10 करोड़ का मानहानि का दावा

चलेगा संयुक्त अंतर्राज्यीय छापेमारी अभियान

समाहरणालय स्थित एसपी कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में डीआइजी ने पत्रकारों को बताया कि पुलिस व सीआरपीएफ की संयुक्त टीम बिहार पुलिस की मदद से आपसी सामंजस्य स्थापित कर सीमावर्ती इलाकों में संयुक्त विशेष छापामारी अभियान चलयेगी. उन्होंने ने बताया कि जिले में कमाई का जरिया बना चुके नक्सलियों के सफाए को लेकर पुलिस कृत संकल्पित है. ऐसे में नियमित अभियान चलाकर नक्सलियों का सफाया किया जाएगा. डीआइजी ने कहा कि जिले में माओवादियों के लिए नो एंट्री है. इसके बावजूद यदा-कदा नक्सली छोटी-मोटी घटनाओं को अंजाम देकर लोगों को परेशान कर रहे हैं. उन्होंने माओवादियों को संरक्षण देनेवाले सफेद पोशों को अपनी आदतों से बाज आने की हिदायत दी. कहा कि नक्सली समर्थक चाहे वह समाज के किसी भी वर्ग से हों बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि जिले में विकास के बाधक बन चुके टीएसपीसी नक्सलियों के विरुद्ध भी विशेष अभियान लॉन्च किया जाएगा. इस बाबत सीआरपीएफ व जिला पुलिस के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश निर्देश दिए गए हैं.

इसे भी पढ़ें- रांची स्मार्ट सिटी के लिए 500 करोड़ का इंटीग्रेटेड बजट निर्धारित

कोयलांचल से लेवी तंत्र का सफाया

डीआइजी ने कहा कि टंडवा व पिपरवार में संचालित कोल परियोजनाओं से टीएसपीसी नक्सली अवैध वसूली कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि परियोजनाओं में कमेटी बनाकर अवैध वसूली में संलिप्त सदस्यों और लेवी तंत्र को बढ़ावा देने वाले नक्सल समर्थकों व सफेद पोशों के विरुद्ध पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी. उन्होंने कहा कि पुलिस ने संलिप्त नक्सलियों, सफेदपोशों व कमेटी सदस्यों को चिन्हित कर लिया है. जल्द ही अभियान चलाकर उनका भी सफाया किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें- रिम्स में आयुष्मान भारत के लाभुक मरीजों को निःशुल्क मिलेगा पेइंग वार्ड का लाभ

समर्पण करें नक्सली वरना सख्ती से निबटेगी पुलिस

डीआइजी ने एक बार फिर मुख्यधारा से भटके नक्सलियों को हथियार डालने की अपील की. उन्होंने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि समाज और राज्य को रक्त रंजित करनेवाले नक्सली सरकार की आत्मसमर्पण नीति का लाभ उठाकर हथियार डाल दें वरना पुलिस उनसे सख्ती से निपटने में सक्षम है. उनके विरुद्ध हर हाल में कार्रवाई की जाएगी. डीआइजी ने आम लोगों से भी नक्सलियों की सूचना पुलिस को देते हुए उनका विरोध करने की अपील की.

नक्सलियों व समर्थकों की संपत्ति होगी जब्त

डीआइजी ने कहा कि कोयलांचल व अन्य इलाकों से अवैध रूप से लेवी के रूप में अर्जित की गई नक्सलियों व उनके समर्थकों की संपत्ति जप्त की जाएगी. पुलिस जांच एजेंसियों के सहयोग से सफेदपोशों की संपत्ति को चिन्हित करते हुए उनकी संपत्ति को अटैच करने की कार्रवाई में जुट गई है. उन्होंने कहा कि इस बाबत कई सिर्फ नक्सलियों को जेल भेजने की भी कार्रवाई की जा चुकी है.

नक्सलियों पर होगी इनाम की घोषणा

डीआइजी ने कहा कि इलाके में सक्रिय विभिन्न नक्सली संगठनों के शीर्ष नक्सलियों पर जल्द इनाम की घोषणा की जाएगी. सरकार द्वारा इनाम की घोषणा किए जाने को लेकर जिला स्तर पर कार्रवाई पूरी कर अनुशंसा पत्र भेज दिया गया है. उन्होंने कहा कि चतरा के करीब डेढ़ दर्जन नक्सलियों समेत प्रमंडल के दर्जनों नक्सलियों के विरुद्ध अलग अलग इनाम घोषित करने की अनुशंसा की गई है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: