ChaibasaJamshedpurJharkhand

Chakradharpur : पवन बिस्कुट फैक्ट्री मालिक के घर चिपकाया गया पुलिस का नोटिस फाड़ा गया

करोड़ों की जमीन बिना बिजली बिल जमा किए बेचने का मामला तूल पकड़ा, बिचौलिये की भूमिका चर्चा में

Chakradharpur : चक्रधरपुर के टोकलो रोड स्थित पवन बिस्कुट फैक्ट्री की करोड़ों की जमीन को बिना बिजली बिल जमा किए बेच देने का मामला तूल पकड़ने लगा है. इस बीच चक्रधरपुर थाना प्रभारी लक्ष्मण प्रसाद ने गुरूवार की शाम फैक्ट्री मालिक के पुरानी रांची रोड स्थित आवास पर नोटिस चिपकाया, जिसे कुछ ही देर बाद फाड़ दिया गया. यह मामला शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है.

78 लाख 88 हजार का बिजली बिल है बकाया  

बताया जाता है कि पवन बिस्कुट फैक्ट्री की जमीन पर 78 लाख 88 हजार रूपए का बिजली बिल बकाया है. बावजूद इसके धोखाधड़ी कर जमीन को बेच दी गई. इसका खुलासा तब हुआ जब जमीन खरीदने वाले ऋषभ छाबड़ा ने बिजली विभाग में कनेक्शन के लिए आवेदन दिया था. परंतु बिजली विभाग ने उस जमीन पर लाखों रूपए बिजली बिल बकाया होने के कारण कनेक्शन देने से इंकार कर दिया. उसके बाद ऋषभ छाबड़ा के आवेदन को खारिज कर दिया गया.

तीन लोगों के खिलाफ दर्ज है मामला

इस मामले में ऋषभ छाबड़ा ने तीन लोगों के खिलाफ चक्रधरपुर थाना में मामला दर्ज कराया था. इसमें पवन कुमार अग्रवाल के अलावा शारदा नंद अग्रवाल एवं राम अवतार अग्रवाल शामिल है. शुक्रवार को ऋषभ छाबड़ा ने बताया कि चक्रधरपुर शहर के वार्ड संख्या-6, खाता संख्या-88, 87 (खेसरा संख्या-168, 290 बीसी) में कुल रकवा 13 डिसमील जमीन को पवन कुमार अग्रवाल, शारदा नंद अग्रवाल (दोनों वर्तवान निवासी 11, अब्दुल रसुल कालीघाट कोलकाता) और चक्रधरपुर शहर के पुरानी रांची रोड निवासी राम अवतार अग्रवाल से जमीन खरीदे है.

बिचौलिये की भूमिका निभानेवाले की चर्चा जोरों पर

पवन बिस्कुट फैक्ट्री की जमीन की खरीद-बिक्री में चक्रधरपुर शहर के एक नामचीन व्यक्ति ने बिचौलिये की भूमिका निभाई थी. फिलहाल आधिकारिक रूप से उस व्यक्ति का नाम कहीं नहीं आया है. फिर भी मामले में उसकी चर्चा जोरों पर है. माना जा रहा है कि पुलिस पूरे मामले की गहन जांच करे तो उस व्यक्ति की भूमिका खुलकर सामने आ जाएगी. अब पुलिस का इस मामले में आगे क्या रूख रहता है, फिलहाल इस पर सबों की निगाहें है.

इसे भी पढ़ें-घाटशिला : स्वर्णरेखा नदी में एक के डूबने की खबर, बराज का गेट बंद कर गोताखोरों को लगाया गया

 

 

Related Articles

Back to top button