JharkhandNEWSRanchiTOP SLIDER

पुलिस मेंस एसोसिएशन के गेस्ट हाउस का डेढ़ वर्ष से नही मिल रहा है आय का ब्यौरा, पुलिस मुख्यालय गंभीर

Ranchi : अपराधिओं पर नकेल कसने वाली पुलिस पर ही अब गहन का आरोप लग रहा है. मामला पुलिस मेंस एसोसिएशन से जुड़ा हुआ है. राजधानी रांची के लाईन टैंक रोड में स्थित पुलिस मेंस एसोसिएशन के एलएस गेस्ट हाउस में हुए आय व्यय का ब्यौरा डेढ़ वर्ष से नही दिया गया है.

पुलिस मेंस एसोसिएशन परिसर में स्थित इस गेस्ट हाउस में दैनिक बुंकिग, शादी विवाह का आयोजन होते रहता है. आयोजन के लिये मिले रुपये गेस्ट हाउस के खाते में जमा किये जाते है. लेकिन एसोसिएशन के कई पदाधिकारी पर गेस्ट हाउस का रुपये रखने का आरोप है. वर्ष 2016 से वर्ष 2020 तक एलएस गेस्ट हाउस के खाते में 33,69000 रुपये आदमनी हुई. लेकिन गेस्ट हाउस के खाते में 3,47,500 रुपये ही जमा किये गये. गृह विभाग द्वारा पत्र संख्या 1755 दिनांक 05.05.2022 के माध्यम से प्राप्त प्रतिवाद के संबंध में पुलिस मुख्यालय से जांच प्रतिवेदन की मांग की गयी है. जिसके आलोक में पुलिस मुख्यालय द्वारा प्रासंगिक पत्र के माध्यम से आय व्यय की प्रतिवेदन की मांग एसोसिएशन से की गयी है.

 इनलोगों पर है ब्यौरा नही देने का आरोप

ram janam hospital
Catalyst IAS

मामले को लेकर झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष ने एसोसिएशन के लोगों को प्रत्र लिखा है. पत्र के अनुसार पुलिस मेंस एसोसिएशन के महामंत्री रमेश उरांव 6,13,900 रुपये, जैप-2 में तैनात सभापति पांडेय 23,200 रुपये, विशेष शाखा में तैनात नरेद्र कुमार 4,25,700 रुपये, झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन के क्षेत्रीय मंत्री जितेन्द्र कुमार 6,88,800 रुपये, प्रदेश संयुक्त महामंत्री रमेश शर्मा 6100 रुपये, विनोद पांडेय 5,53000 रुपये और वैभव पाठक 6,90800 रुपये रखने का आरोप है. इनलोगों ने इन रुपयो के व्यय का भी कोई ब्यौरा नही दिया है. इनलोगों के द्वारा करीब डेढ़ वर्षो से टालमटोल किया जाने का आरोप है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इसे भी पढ़ें: JHARKHAND हाईकोर्ट से लाइव: मुख्यमंत्री हेमंत से जुड़ खनन लीज व शेल कंपनी मामले में सुनवाई शुरू

Related Articles

Back to top button