JharkhandRanchiTOP SLIDER

पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप के दस्ते साथ हुई पुलिस की मुठभेड़

Khunti : खूंटी जिले के रनिया थाना क्षेत्र में सुरक्षाबलों और पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप के दस्ते के बीच मुठभेड़ हुई. मिली सूचना के आधार पर सुरक्षाबल जैसे ही जंगल पहुंचे वैसे ही पहले से घात लगाये नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी. जिसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए उन्हें घेरने की कोशिश की. लेकिन जंगल का फायदा उठा कर नक्सली भागने में सफल रहे.

खूँटी पुलिस को रनिया थाना एवं चाईबासा जिला के गुदड़ी थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाके के जंगलों में पीएलएफआइ के उग्रवादियों के मूवमेंट एवं किसी घटना को अंजाम देने की सूचना प्राप्त हुई.

इसे भी पढ़ें:कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ जम कर की नारेबाजी, लोकतंत्र के हनन का लगाया आरोप

advt

प्राप्त सूचना के सत्यापन एवं आवश्यक कार्रवाई के लिए अपर पुलिस अधीक्षक अभियान, खूंटी एवं अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, तोरपा के नेतृत्व में खूंटी जिला बल, चाईबासा जिला बल एवं झारखंड जगुआर की टीम को मिला कर एक संयुक्त अभियान दल का गठन किया गया.

adv

अभियान दल के द्वारा ग्राम टेमना एवं भुड़ के आस-पास के क्षेत्रों में सर्च अभियान चलाया गया. सर्च के दौरान सोमवार सुबह लगभग 8 बजे पीएलएफआइ उग्रवादियों द्वारा पुलिस बल पर अचानक फायरिंग शुरू कर दी गयी.

पुलिस बल के द्वारा आत्मरक्षार्थ उग्रवादियों की दिशा में जवाबी कार्रवाई की गयी. पुलिस बल को भारी पड़ता देख पीएलएफआइ के उग्रवादी घने जंगल एवं झाड़ियों का लाभ उठाते हुए भाग गये.

इसे भी पढ़ें:मनरेगा: 51.32 करोड़ की वित्तीय हेराफेरी, रिकवरी का आदेश भी बेअसर, दो फीसदी से भी कम वसूली

घटनास्थल से बरामदगी

लोडेड कर्बाइन, गोली, मोबाईल, 4 चार्जर, 55 राउंड गोली, पिट्टू बैग, 6. 9 MM की मैगजीन 10, पीएलएफआइ का पर्चा, रसीद एवं अन्य साहित्य, दैनिक उपयोग की अन्य वस्तुएं.

इसे भी पढ़ें:US में सिख नौसैनिक के लिए पक्ष में बड़ा फैसला, 246 साल बाद पगड़ी पहनने की इजाजत

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: