National

पुलिस की बर्बरता: पहले महिला के उतारे कपड़े, फिर प्राइवेट पार्ट पर बेल्ट से किया वार

Gurugram : यूं तो लोग पुलिस के पास अपनी समस्या के समाधान के लिए जाते हैं. पुलिस उनकी परेशानी हल भी करती है. लेकिन हरियाणा के गुरुग्राम में पुलिस का एक अलग ही चेहरा सामने आया है. यहां पुलिस कुछ ऐसा कर गुजरी जिससे मानवता शर्मसार हो उठी.

दरअसल, गुरुग्राम में डीएलएफ फेस 1 थाने में एक नॉर्थ ईस्ट की महिला के साथ पुलिस ने पूछताछ के दौरान न सिर्फ उसे नर्वस्त्र किया बल्कि उसके प्राइवेट पार्ट पर बेल्ट से कई वार भी किये.

इसे भी पढ़ें- देश की #GDP पर क्रिसिल की रिपोर्ट चिंताजनक, 2019-20 के लिए ग्रोथ रेट घटाकर किया 6.3 %

SIP abacus

चोरी के आरोप में पुलिस ने पीटा

Sanjeevani
MDLM

पीड़िता डीएलएफ फेस 1 के H ब्लॉक में किसी घर में मेड का काम करती है. वह जिसके घर में काम करती है उस घर के मालिक ने ही उसपर चोरी का आरोप लगाया था.

मालिक ने कैश और ज्वेलरी चोरी की शिकायत थाने में की थी. इसी मामले में पूछताछ के दौरान पीड़िता के साथ भयानक तरीके से मारपीट की गयी. पीड़िता मूल रूप से असम की रहने वाली है और उसकी उम्र करीब 30 साल है.

मंगलवार देर शाम महिला के खिलाफ चोरी की शिकायत दर्ज की गयी थी. घर का मालिक महिला को थाने ले गया था जहां पुलिस ने उसे बर्बर तरीके से पीटा. यहां तक कि महिला के कपड़े उतरवा के प्राइवेट पार्ट पर भी बेल्ट से वार किया.

इसे भी पढ़ें- रूस में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मिले #PM_Modi, ईस्टर्न इकॉनोमिक फोरम में लेंगे हिस्सा

कमिश्नर ने दिये जांच के आदेश

बुधवार को पीड़िता के साथ हुए अत्याचार के बारे में लोगों को पता चला तो उन्होंने थाने का घेराव किया. जिसके बाद मामला गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर तक पहुंच गया.

मामले की जानकारी होते ही उन्होंने विभागीय जांच के आदेश दिये. इस मामले में चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच की जा रही है. इसमें एएसआइ मधुबाला, एसएचओ स्वेत कुमार, हेड कॉन्स्टेबल अनिल कुमार, महिला कॉन्स्टेबल कविता के खिलाफ जांच की जा रही है. जिसमें डीएलएफ फेस-1 के स्टेशन ऑफिसर को लाइन हाजिर किया गया है.

इसे भी पढ़ें- पंजाबः पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट की होगी मजिस्ट्रियल जांच, हादसे में 23 लोगों की गयी जान

क्या है महिला के पति का आरोप

महिला के पति ने पुलिस पर महिला के प्राइवेट पार्ट पर वार करने का आरोप लगाया है. उसके पति ने कहा कि जांच अधिकारी व एएसआइ मधुबाला ने मेरी पत्नी को पुलिस स्टेशन बुलाया और उसे एक कमरे में बंद कर दिया.

उन्होंने उसके कपड़े उतरवा दिये और फिर बेरहमी से उसकी पिटाई की. पुलिसकर्मियों ने उसपर जुर्म कुबूल करने का भी दबाव बनाया. जबकि उसने चोरी की ही नहीं थी.

 

Related Articles

Back to top button