न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चास डकैती कांड में शामिल दो आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा

टुंडी के बैंक ऑफ इंडिया डकैती कांड में थे शामिल

82

Bokaro: चास थाना क्षेत्र के यमुना विला होटल के पीछे 26 सितंबर को डकैती की घटना को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों संदिग्‍ध आरोपी एक कुख्यात अंतर्राज्यीय गिरोह के पेशेवर सदस्य बताये जाते हैं. इनका काफी लंबा आपराधिक इतिहास रहा है. इनमें से विभाष पासवान उर्फ मृगेंद्र पासवान जिला नालंदा, थाना नूरसराय का रहने वाला है. वहीं दूसरा पिंकू पांडेय उर्फ पंकज पांडेय जिला गिरिडीह पचंबा थाना के शांतिनगर का निवासी है. इस बात की जानकारी बोकारो एसपी कार्तिक एस ने रविवार को दी.

इसे भी पढ़ें- विभागों में निलंबित करने और निलंबन मुक्त करने के लिए काम करती है लॉबी

आरोपियों के पास पिस्‍तौल व गोलियां बरामद

एसपी ने कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर चास थाना क्षेत्र के तलगड़िया मोड़ के पास से उक्त दोनों आरोपियों को पकड़ा गया है. इनके पास से पुलिस ने काले रंग की भरी हुई देसी पिस्तौल, दो 9 एमएम की गोली, एक 315 बोर की गोली और तीन मोबाइल बरामद किये हैं. एसपी ने बताया कि पिछले माह धनबाद जिले के टुण्डी थाना क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया में डकैती की घटना को अंजाम देने वाले गिरोह में उक्त दोनों आरोपी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें: शिड्यूल्‍ड एरिया में नन ट्राइबल और कॉरपोरेट को खनन का हक देना गलत, तो अनुपालन की जिम्मेदारी किसकी

नई घटना को अंजाम देने के फिराक में थे आरोपी

दोनों रविवार को कोई नई घटना को अंजाम देने की फिराक में भर्रा जा रहे थे, तभी रास्ते में ही पकड़े गये. एसपी ने बताया कि विभाष ने रामगढ़ के एक जेवर दुकान में डकैती की थी. इसमें उसे सजा हो चुकी थी, दो माह पहले वह बेल पर बाहर आया है. वहीं पिंकू पांडेय ने गिरिडीह में एक करोड़पति व्यक्ति के घर पर करोड़ों की डकैती की थी. इसमें उसे आजीवन कारावास हो गयी थी. हाइकोर्ट में अपील कर वह बेल में बाहर आया था. फिलहाल ये दोनों अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर कोई नयी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे.

इसे भी पढ़ें: News Wing Breaking : बदल जायेगा राज्य का प्रशासनिक ढांंचा ! एचआर पॉलिसी, क्षेत्रीय प्रशासन, परिदान आयोग के गठन व निगरानी सेल की मजबूती की कवायद

चास की घटना को 9 लोगों ने दिया था अंजाम

एसपी ने बताया कि चास डकैती कांड के उद्भेदन के लिए चार टीम गठित की गयी थी. इस घटना में लूटे गये सोने-चांदी के जेवरात की बरामदगी एवं अन्य अभियुक्तों, स्थानीय सूत्रधार की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. चास की घटना को कुल 9 लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था. छापामारी दल में डीएसपी चास सदर बहामन टुटी, चास थाना प्रभारी प्रमोद पांडेय, सहायक अवर निरीक्षक रामेश्वर वर्मा, बसंत टोप्पो, रंजन मिश्रा, ओम प्रकाश महतो, संतोष कुमार आदि शामिल थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: