न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे PLFI उग्रवादी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

45

Ranchi: रांची पुलिस ने गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए एक पीएलएफआई उग्रवादी को तमाड़ थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया. दरअसल, एसएसपी अनीश गुप्ता को गुप्त सूचना मिली थी कि पीएलएफआई के कुछ उग्रवादी किसी बड़े घटना को अंजाम देने के लिए तमाड़ थाना क्षेत्र के बुरूसिंगु में जुट रहे हैं. जिसके बाद वरीय पुलिस अधीक्षक के आदेश पर दो पुलिस टीम गठित हुई. पुलिस की कार्रवाई में एक उग्रवादी पकड़ा गया, जबकि तीन भागने में सफल रहे. पकड़े गये उग्रवादी के पास से हथियार भी बरामद हुए हैं.

इसे भी पढ़ेंःजानिए पाकुड़ के नक्सली कुणाल मुर्मू एनकाउंटर का पूरा सच, जिसपर अब डीसी उठा रहे हैं सवाल

कैसे हुई गिरफ्तारी

एसएसपी अनीश गुप्ता और पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अजीत पीटर डुंगडुंग को पीएलएफआई उग्रवादियों के तमाड़ में होने की गुप्त सूचना मिली. जिसके बाद वरीय पुलिस अधीक्षक के आदेश पर पुलिस की दो टीम गठित की गई. वरीय पुलिस अधीक्षक के द्वारा गठित की गई पुलिस की टीम के द्वारा जारगो स्थित शिव मंदिर के पास घेराबंदी की गई, जहां से पुलिस ने पीएलएफआई के हार्डकोर सदस्य सैनाथ सिंह मुंडा को गिरफ्तार किया. बाकी तीन पीएलएफआई संगठन के उग्रवादी पहाड़ और जंगल का फायदा उठाकर भागने में सफल रहे.

इसे भी पढ़ेंःलाल’ होती झारखंड की सड़कें: रोड एक्सीडेंट में बढ़ोतरी, पिछले एक…

गिरफ्तार उग्रवादी का पहले से है अपराधिक इतिहास

पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किए गए पीएलएफआई संगठन के हार्डकोर सदस्य सैनाथ सिंह मुंडा का आपराधिक इतिहास रहा है. सैनाथ सिंह मुंडा के ऊपर तमाड़ थाना में पहले से तीन मामला दर्ज है. पुलिस को लंबे दिनों से इसकी तलाश थी. तमाड़ थाना में कांड संख्या-72/16, कांड संख्या 35/17,26/35 आर्म्स एक्ट, कांड संख्या- 26/35 आर्म्स एक्ट/सीलए एक्ट मामला तमाड़ थाना में दर्ज है.

अपराधियों के पास से बरामद सामान

पुलिस ने पीएलएफआई संगठन के हार्डकोर सदस्य सैनाथ सिंह मुंडा के पास से एक लोडेड देशी पिस्तौल, 5 ज़िंदा गोली,एक मोटसाइकिल जब्त की है. इस छापेमारी में अपर पुलिस अधीक्षक रांची, एएसपी शाह पुलिस उपाधीक्षक अमित रेनू (हेड क्वार्टर 1), अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी बुंडू अशोक रविदास, विमल कुमार तमाड़ थाना प्रभारी, एसएसबी 26 बटालियन के इंस्पेक्टर अरुण कुमार सहित अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंःCM के पास IFS अफसरों के लिए समय नहीं, झारखंड में एक्सपोजर नहीं-हो…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: