न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

कुख्यात अपराधी सोनू इमरोज के भतीजे तौफीक की हत्या, मामले की जांच में जुटी पुलिस

 मृतक तौफीक का भी आपराधिक इतिहास रहा है.

223

Ranchi : रांची के कुख्यात अपराधी सोनू इमरोज के भतीजे तौफीक की हत्या देर रात चाकू से मार कर दी गई. अपराधियों द्वारा  हत्या करने के बाद उसके शव को लालपुर स्थित महेंद्र सिंह महिला कॉलेज गली में लाकर फेंक दिया गया. शुक्रवार सुबह पुलिस को लालपुर थाना क्षेत्र में एक अज्ञात शव मिलने की सूचना मिली. जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में ले लिया गया. शव की पहचान कर ली गई है. मृतक तौफीक का भी आपराधिक इतिहास रहा है.

eidbanner

इसे भी पढ़ें : घर का बोझ उठा रहीं पिंक ऑटो चालिकाएं, पीठ में बच्चे को बांध चला रहीं ऑटो

क्या है मामला

रांची के कुख्यात अपराधी सोनू इमरोज के भतीजे तौफीक की देर रात अज्ञात अपराधियों द्वारा चाकू से मार हत्या कर दी गई.  तौफीक की हत्या किसी दूसरे स्थान पर करने के बाद उसके उसके शव को लालपुर थाना क्षेत्र स्थित महेंद्र प्रसाद महिला कॉलेज वाली गली में लाकर फेंक दिया गया. सुबह होने पर आसपास के लोगों ने देखा कि गली में एक शव पड़ा हुआ है. फिर स्थानिय लोगों द्वारा इसकी सूचना लालपुर थाने की दी गई. सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया गया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

इसे भी पढ़ें : डोरंडा कॉलेज पर विभाग मेहरबान, बिना आधारभूत संरचना के कई कोर्सेज को दी गयी है मान्यता

क्या कहते हैं लालपुर थाना प्रभारी

Related Posts

कैबिनेट का फैसला, 10 साल पहले सृजित पद के विरुद्ध अनियमित तरीके से नियुक्त कर्मी होंगे स्थायी 

आज कैबिनेट की बैठक में यह फैसला किया गया. कैबिनेट में कुल 17 प्रस्तावों को स्वीकृति दी गयी. 

लालपुर थाना प्रभारी रमोद कुमार सिंह ने बताया तौफीक की हत्या कहीं और की गई है. उसके शव को कॉलेज की गली में फेंक दिया गया है. क्योंकि जिस जगह पर तौफीक का शव पड़ा हुआ था. वहां खून के एक दो धब्बे ही मिले हैं. ऐसे में यह साफ पता चल रहा है कि तौफीक की हत्या चाकू मारकर किसी और इलाके में की गई और वहां से ला कर उसके शव को लालपुर इलाके में फेंक दिया गया. लालपुर थाना प्रभारी के अनुसार तौफीक की हत्या चाकू मारकर की गई है.

पुलिस मामले की जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें : रांची : 2008 में शुरू हुआ था इक्फाई विश्वविद्यालय, 10 साल बाद भी नहीं बना पाया अपना कैंपस

मृतक का भी रहा है अपराधिक इतिहास

पुलिस हत्या की इस घटना को पुरानी दुश्मनी का परिणाम मान रही है. तौफीक रांची के कर्बला चौक इलाके का रहने वाला था. उसका चाचा सोनू इमरोज खुद जो खुद एक कुख्यात अपराधी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: