GiridihJharkhand

गिरिडीहः दुष्कर्म का वीडियो वायरल होने के 48 घंटे बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत चार को गिरफ्तार किया

Giridih:  प्रेमी के सामने मंगेतर के साथ दुष्कर्म के मुख्य आरोपी समेत उसके साथ मारपीट को शह देने के चारों आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. ये गिरफ्तारी खोरीमहुआ पुलिस ने 48 घंटे के भीतर की है. जिले के इस चर्चित घटना का उद्भेदन पुलिस के लिए बड़ी सफलता मानी जा रही है. जिस युवती के साथ घोड़थंबा के बभनी गांव निवासी राजकुमार यादव ने दुष्कर्म किया, वह पहले से शादीशुदा बतायी जा रही है. पुलिस के अनुसार जहां मुख्य आरोपी राजकुमार यादव है. वहीं उसके संरक्षकर्ता गणेश राय और उसके तीन साले हैं. मामले के उद्भेदन के बाद पुलिस लाईन में प्रेसवार्ता कर एसपी झा और एसडीपीओ राजीव कुमार ने बताया कि जिस युवती के साथ दुष्कर्म की घटना हुई है, वह हीरोडीह थाना क्षेत्र की रहने वाली है. दुष्कर्म के बाद घटना का वीडियो वायरल होने के बाद मामला चर्चा में आया.

इसे भी पढ़ेंः BSNL: कभी थी नंबर वन और अब क्यों है डूबने की कगार पर?

advt

पीड़िता गणेश राय से दूसरी शादी के लिए तैयार थी

दरअसल, दुष्कर्म की शिकार युवती को जिस युवक का मंगेतर बताया जा रहा है, वह धनवार के परसन ओपी के अरगाली निवासी गणेश राय ही है. जिसकी शादी छह साल पहले कोडरमा के नवलशाही थाना क्षेत्र के बेको डगरनवा गांव निवासी लाटो राय की पुत्री के साथ 2013 में हुई थी. घटना के बाद एसडीपीओ राजीव कुमार के नेतृत्व हुई जांच के दौरान यह तथ्य निकल कर सामने आया कि पीड़िता गणेश राय से दूसरी शादी के लिए तैयार थी. जांच के क्रम में यह भी निकल कर सामने आया कि गणेश को पहली पत्नी से कोई संतान नहीं होने के बाद गणेश को दूसरी शादी की मंजूरी ससुराल से मिली.

इसे भी पढ़ेंः TVNL: निकला अबतक का सबसे बड़ा टेंडर, लोकल ठेकेदार नहीं ले सकेंगे हिस्सा, गहरा सकता है रोजगार का संकट

ससुराल वालों ने दी धमकी

सहमति के बाद गणेश के ससुराल वालों ने पीड़िता से मिलने का मन बनाया. लेकिन गणेश भी नहीं जानता था कि उसके तीनों सालों ने उसकी मंगेतर को लेकर घिनौनी योजना बना रखी है. ससुराल वालों की इच्छा से गणेश पीड़िता को लेकर अपने ससुराल बेको डगरना गांव से निकला. गणेश ने रास्ते में पीड़िता को गांव के एक अर्धनिर्मित मंदिर में ठहराया. और खुद ससुराल पहुंच गया. इस दौरान ससुराल वालों ने लड़की से मिलने की इच्छा जाहिर की. गणेश ने कहा कि लड़की नहीं आयी है. यह सुनने के बाद गणेश के ससुराल वालों ने धमकी भरे लहजें में कहा कि अगर यहां लड़की को लेकर आते तो वह जिंदा नहीं बचती.

adv

इस तरह घटी पूरी घटना

ससुराल वालों से धमकी सुनने के बाद गणेश देर रात गांव के अर्धनिर्मित मंदिर पहुंचा. जहां गणेश अपनी बाइक से पीड़िता को लेकर अरगाली पहुंचने का प्रयास किया. लेकिन कोदवारी गांव के समीप बाइक खराब हो गयी. फिर दोनों कोदवारी गांव के स्कूल में रुक गये.

इस दौरान गणेश के तीनों साले आलोक कुमार राय, विनोद राय और रामलखन राय कोदवारी गांव पहुंचे, तो गणेश को युवती के साथ देखकर आगबबूला हो गये. इसके बाद गणेश की मौजूदगी में ही तीनों सालों ने जहां उसकी जमकर पीटायी कर दी, वहीं तीनों सालों ने वहां मौजूद राजकुमार यादव को युवती के साथ दुष्कर्म के लिए उकसाया.

इसे भी पढ़ेंः रोजवैली चिटफंड मामले में अभिनेत्री रितुपर्णा सेनगुप्ता को ED का नोटिस

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close