न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पुलिस व ग्रामीणों के बीच झड़प, तीन पुलिसकर्मी समेत नौ जख्मी

217

Chatra: वशिष्ठ नगर थाना क्षेत्र के करमाली गांव में पत्थल उत्खनन रोकने को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प हो हुई. इस झड़प में तीन पुलिसकर्मी सहित नौ लोग जख्मी हो गये. घायलों को उपचार के बाद घर भेज दिया गया. घटना को लेकर वशिष्ठ नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है. खबर लिखे जाने तक प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है. अंचल अधिकारी रामसुमन प्रसाद ने बताया कि देर रात तक प्राथमिकी दर्ज हो जाने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें- ‘गांव’ फिल्म का अंतर्राष्ट्रीय लोकार्पण 26 अक्टूबर को, इटखोरी से प्रेरित है कहानी

जानिये क्‍यों हुई झड़प

रामसुमन प्रसाद ने बताया कि जिला प्रशासन की सहमति मिलने के बाद करमाली में पत्थर उत्खनन का कार्य शुरू करने के लिए सहायक कंस्ट्रक्शन व अन्य लीजधारक पिछले चार पांच दिनों से प्रयास कर रहे थे. लेकिन, ग्रामीण इसका विरोध कर रहे थे. स्थिति देखते हुए थाना प्रभारी शिव गोप ने डीसी एवं एसपी से करमाली गांव में दंडाधिकारी के साथ सुरक्षा बलों की प्रतिनियुक्ति की मांग की थी. जिसके आलोक में सदर अनुमंडल पदाधिकारी राजीव कुमार ने हंटरगंज के अंचल अधिकारी रामसुमन प्रसाद को बतौर दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त किया था. सुबह सुरक्षा बल वहां पर तैनात किये गये थे. इसी बीच दर्जनों की संख्या में महिला-पुरुष पहुंचे और उत्खनन कार्य का विरोध करने लगे. ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया गया. लेकिन, वे खनन कार्य को रोकने की मांग पर अडिग रहे. खनन कार्य नहीं रूकते देख शाम ढलते ही ग्रामीण उग्र हो गये. उग्र ग्रामीणों को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मियों ने लाठियां चटकानी शुरू कर दी. जिसके बाद ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया. इस झड़प में तीन पुलिस कर्मी जख्मी हो गये. घायल पुलिसकर्मियों में नीतेश कुमार, महिला कांस्टेबल गीता देवी व एक अन्य शामिल हैं. वहीं ग्रामीणों की ओर से शंभू यादव, रंजीत, दीपक कुमार व अन्य शामिल हैं. अंचल अधिकारी ने बताया कि घटना के बाद खनन का कार्य रोक दिया गया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: