Crime NewsJharkhandRanchi

गैंगस्टर अखिलेश सिंह और सुधीर दुबे गिरोह के बीच गैंगवार को लेकर पुलिस सतर्क, अब तक 31 अपराधी गिरफ्तार

Saurav Singh

Ranchi: गैंगस्टर अखिलेश सिंह और सुधीर दुबे गिरोह के बीच हुई गोलीबारी के बाद शहर में गैंगवार की आशंका बढ़ गयी है. इसे देखते हुए जमशेदपुर पुलिस सतर्क है. दोबारा फायरिंग जैसी घटना न हो, इसके लिए पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पिछले 12 दिनों के दौरान 31 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

गैंगवार की आशंका को देखते हुए पुलिस सतर्क

बीते 29 अप्रैल की रात करीब 11 बजे सीतारामडेरा थाना क्षेत्र के भुइयांडीह स्थित नीतिबाग कॉलोनी के पास अखिलेश सिंह गिरोह के लोगों पर गोलियां चलायी गयी थी. अखिलेश गिरोह से अलग हटकर गिरोह बनाने वाले सुधीर दुबे ने यह फायरिंग की थी.

जिसमें अखिलेश सिंह गिरोह का मुख्य शूटर कन्हैया सिंह सहित कई घायल हो गये थे. इसके बाद से शहर में दोनों गिरोह के बीच गैंगवार की आशंका तेज हो गयी थी. गैंगवार की आशंका को देखते हुए जमशेदपुर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दोनों गिरोह से जुड़े लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजने का काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें- #20lakhcrores के पैकेज में किस सेक्टर को मिलेगा कितना? शाम 4 बजे डिटेल बताएंगी वित्त मंत्री

जेल में दोनों गैंग के लोगों के बीच हो सकता गैंगवार

जेल में अखिलेश सिंह गैंग और सुधीर दुबे गिरोह के गुर्गों के बीच गैंगवार हो सकता है. 29 अप्रैल को भुइयांडीह में दोनों गैंग के बीच हुई फायरिंग के बाद जेल में दोनों गुटों के बीच तनातनी बढ़नी तय है.इस फायरिंग के मामले में गिरफ्तार किये गये गुर्गे फिलहाल घाघीडीह जेल में ही बंद किये गये हैं.

फायरिंग को लेकर रंजिश अभी ठंडी भी नहीं पड़ी है, ऐसे में किसी भी दिन जेल में खूनी खेल होने से इंकार नहीं किया जा सकता. इसे लेकर जेल प्रशासन भी सतर्क है. पहले भी इसी तरह की परिस्थितियां बनने पर गैंगस्टर के खिलाफ गिरोह खड़ा करने वाले परमजीत सिंह को अखिलेश सिंह के गुर्गो ने जेल में मार डाला था. अब एक बार फिर जेल में वैसे ही हालात फिर से बन गये हैं.

इसे भी पढ़ें- #20lakhcrores के पैकेज के ऐलान से बाजार में उछाल, सेंसेक्स में 1400 अंकों से अधिक की तेजी

पहले अखिलेश सिंह के लिए काम करता था सुधीर दुबे

सुधीर दुबे पहले अखिलेश सिंह गिरोह का सदस्य था. उसके लिए कई हत्याएं की. लेकिन हजारीबाग जेल जाने के बाद उसने अपना नया गिरोह खड़ा कर लिया. पिछले जनवरी महीने में जमशेदपुर पुलिस के द्वारा तीन दिनों के रिमांड पर लिए गये पलामू जिले का अपराधी सुजीत सिन्हा ने पुलिस के सामने यह खुलासा किया था. सुधीर दुबे के खिलाफ सोनारी निवासी अमित सिंह की हत्या, साकची में अमित सिंह पर फायरिंग समेत एक दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं.

वह अखिलेश सिंह का करीबी था,लेकिन जेल से रिहाई के बाद उसके तेवर बदल गये.बक्सर के सुधीर दुबे ने हजारीबाग जेल से छूटने के बाद दुमका जेल में बंद अखिलेश सिंह के खिलाफ बड़ा गिरोह तैयार किया है. उसने अखिलेश सिंह की हत्या के लिए पांच हथियार खरीदे थे. इनमें दो बरेटा और दो सीजेड कंपनी की पिस्तौल हैं. उसने नागालैंड से साढ़े तीन-तीन लाख रुपये में दो एके-47 खरीदे हैं.

इसे भी पढ़ें- #CoronaUpdate: इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या 2,100 के पार, मौत का आंकड़ा 100 के करीब

दुमका जेल में बंद है गैंगस्टर अखिलेश सिंह

जमशेदपुर और गुरुग्राम की पुलिस ने गुरुग्राम के गेस्ट हाउस में 11 अक्टूबर 2017 को पुलिस मुठभेड़ के बाद गैंगस्टर और उसकी पत्‍‌नी गरिमा सिंह को गिरफ्तार किया था. मुठभेड़ में गैंगस्टर को घुटने में पुलिस की गोली लगी थी.

उसे गुरुग्राम पुलिस बिरसानगर थाना में दर्ज फर्जीवाड़ा के मामले में 2 नवंबर 2017 को लेकर शहर पहुंची थी. यहां कुछ दिन घाघीडीह सेंट्रल जेल में रखने के बाद उसे दुमका जेल ट्रांसफर कर दिया गया था.

पुलिस कर रही है कानूनी कार्रवाई: एसएसपी

जमशेदपुर एसएसपी एम तमिल वाणन ने बताया की दोनों गिरोह के बीच गैंगवार की आशंका को देखते हुए पुलिस कानूनी कार्रवाई करने के जुटी हुई है. पुलिस इस दौरान दोनों गिरोह से जुड़े 31 लोगों को गिरफ्तार जेल भेज चुकी है. दोनों गिरोह के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई जारी है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: