GiridihJharkhand

धरना से उठाने के लिए फर्जी कोरोना रिपोर्ट बनाने का पुलिस पर आरोप

Giridih : पुलिस के खिलाफ अनशन पर बैठे कुंजलाल साव को जब गिरिडीह के बगोदर थाना की पुलिस तमाम प्रयासों के बाद भी नहीं उठा पाई तो उसे कोरोना संक्रमित कर उठाने का पुलिस ने प्रयास किया. इसके लिए फर्जी कोरोना रिपोर्ट बनाने का आरोप स्वास्थ विभाग और पुलिस पर लगा है. ये मामला गहरा गया है.

क्योंकि जिले के डुमरी और बगोदर के स्वास्थ केन्द्र में स्वास्थ कर्मियों ने उसका मेडिकल चेकअप के साथ सैंपल क्लेकनशन किया. तो शनिवार को ही डुमरी रेफरल अस्पताल ने उसकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव मिली.
जबकि बगोदर सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र ने कुंजलाल साव को पॉजिटिव होने की रिपोर्ट दी.

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS :  विराट कोहली ने टेस्ट कप्तानी भी छोड़ी, ट्वीट कर दी जानकारी

ram janam hospital
Catalyst IAS

बताया जाता है कि पिछले साल मई में पीड़ित कुंजलाल साव ने किसी मामले में बगोदर थाना में ऑनलाइन एफआईआर कराया था. लेकिन थाने में केस दर्ज नहीं किया गया. और पिछले कई महीनों से केस नंबर के लिए परेशान पीड़ित कुंजलाल साव को एफआईआर नंबर नहीं मिला.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

तो परेशान हो कर इस साल छह जनवरी से पीड़ित ने बगोदर में अनशन करने का निर्णय लिया. इस दौरान बगोदर थाना पुलिस ने उसे कई बार वहां से हटाने का प्रयास किया. अब पुलिस पर ये आरोप लगा है.

इसे भी पढ़ें:पंचायत चुनावः दीपक प्रकाश ने हेमंत सरकार की मंशा पर उठाये सवाल, कहा- कोरोना तो है बहाना

Related Articles

Back to top button