न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

PMCH के 400 स्वास्थ्यकर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, मरीजों की बढ़ी परेशानी

सरकार द्वारा निर्धारित वेतनमान समेत कई मांगें

450

Dhanbad: धनबाद और उसके आसपास के इलाकों के मरीजों की परेशानी बढ़ने वाली है. दरअसल, पीएमसीएच के आउटसोर्सिंग पर कार्यरत नर्सिंग स्टाफ और पारा मेडिकल स्टाफ सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. बताया जा रहा है कि वेतन के 50% रकम गबन किया जा रहा है. स्टाफ का कहना है कि सरकार द्वारा निर्धारित वेतनमान उन्हें नहीं दिया जाता है. इन मांग को लेकर ये लोग हड़ताल पर गए हैं. जिसमें कई विभाग के कर्मचारी भी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंःदर्जनभर आईएफएस पर 50 करोड़ से ज्यादा गबन का आरोप, फिर भी हैं महत्वपूर्ण पदों पर काबिज

हड़ताल पर 400 स्वास्थ्यकर्मी

हड़ताली कर्मियों में नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट, वार्ड बॉय, रेडियोलॉजिस्ट शामिल हैं. एकसाथ 400 कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से अस्पताल की इनडोर व्यवस्था चरमरा गयी है. इसके अलावा पैथोलॉजी, रेडियोलॉजी, दवा-वितरण, एनेस्थीसिया जैसे काम भी बाधित हुए हैं. और ऐसे में कई महत्वपूर्ण ऑपरेशन भी स्थगित करने पड़ सकती हैं. नर्सों के हड़ताल पर जाने से मरीजों की परेशानी बढ़ गई है. इनडोर के साथ-साथ इमरजेंसी सेवा भी प्रभावित हुई है.

इसे भी पढ़ें-खत्म होगी सिपाही से सीधे दारोगा बनाने वाली सीमित परीक्षा व्यवस्था, सरकार ने मांगा प्रस्ताव

क्या है मांग

आउट सोर्सिंग पर कार्यरत हड़ताली कर्मियों ने सरकारी दर पर वेतन देने, पीएफ-ईएसआई की मांग है. कर्मियों ने बताया कि पिछले साढ़े तीन सालों से वो यहां काम कर रहे हैं. लेकिन उन्हें सरकार द्वारा निर्धारित वेतनमान नहीं दिया जाता है. स्वास्थ्यकर्मियों ने आरोप लगाया कि सरकारी रेट से 50 % की राशि एजेंसी द्वारा हजम कर ली जाती है. श्री राम इंटरप्राइजेज और एक अन्य निजी एजेंसी इनसे लेती है, और आधे से भी कम वेतन में उन्हें काम करना पड़ता है. MCI के विजिट के दौरान इन्हें स्थाई कर्मी के रूप में दिखाया जाता है.
साथ ही बोनस के अलावा महीने के 4 दिन की छुट्टी काट कर सिर्फ 26 दिनों का ही पेमेंट को लेकर 400 कर्मचारी हड़ताल पर हैं.

मरीजो की बढ़ी परेशानी

PMCH के 400 कर्मचारियों के अचानक हड़ताल पर जाने से मरीजों को काफी परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है. पीएमसीएच के कई विभाग जिसमें फार्मासिस्ट, एनेस्थीसिया, ओटी, इमरजेंसी सहित लगभग कहे तो पूरे विभाग के हड़ताल पर जाने से मरीजों को अच्छी-खासी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.
अस्पताल के मुख्य गेट पर जमकर प्रदर्शन करते हुए अपनी मांगों पर अटल नजर आए. हड़ताली कर्मियों ने साफ कर दिया है कि मांगे पूरी नहीं होने पर वह हड़ताल पर बने रहेंगे.

इसे भी पढ़ेंःरांची: टाइगर मोबाइल जवान ने खुद को मारी, लिखा- और बर्दाश्त नहीं होता…

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: