JharkhandRanchiSports

PM नरेंद्र मोदी ने झारखंड के LAWN BALL खिलाड़ियों का बढ़ाया उत्साह, कहा- कॉमनवेल्थ गेम्स में आपने रचा इतिहास

Ranchi: पीएम आवास में आज झारखंड के लॉन बॉल खिलाड़ियों का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्साह वर्धन किया. ये लॉन बॉल खिलाड़ी पिछले दिनों बर्मिंघम (इंग्लैड) में समाप्त हुए कॉमनवेल्थ गेम में शामिल थे. उनके अलावे कॉमनवेल्थ गेम में शामिल अन्य खेलों के विजयी खिलाड़ी और प्रतिभागी भी इस दौरान उपस्थित थे. प्रधानमंत्री ने झारखंडी खिलाड़ियों के विषय में कुछ खास तो नहीं कहा पर लॉन बॉल के खेल में विशिष्ट प्रदर्शन के लिये खिलाड़ियों की सराहना की. कहा कि जिस खेल को कोई नहीं जानता था, उसमें भारतीय टीम ने इतिहास रचा. इस खेल को देश सहित दुनिया भर में नयी पहचान दिलायी है. इसके अलावे उन्होंने लॉन बॉल सहित दूसरे खेलों में पदक जीतने वालों के योगदान, मेहनत, जुनून की भी सराहना की. खेलों में आगे और भी अच्छा प्रदर्शन करने को शुभकामनाएं दीं. इसके साथ ही मोदीजी ने उम्मीद जताते कहा कि जिस तरह के प्रदर्शन खिलाड़ी देश दुनिया में कर रहे हैं, उससे लगता है कि भारतीय खेलों में स्वर्णिम पल आने वाला है.

इसे भी पढ़ें: कॉमनवेल्थ गेम्स में झारखंडी खिलाड़ियों का गोल्डेन प्रदर्शन

क्या कहते हैं झारखंडी खिलाड़ी

लॉन बॉल खिलाड़ी सुनील बहादुर ने बताया कि उनके लिये पीएम मोदी को इतने करीब से देखने, मिलने का यह पहला मौका था. ऐसे में वे और उनके कई साथी खिलाड़ी भी एक्साइटेड थे. पीएम का खेल के प्रति विचार काफी उत्साहवर्धक और प्रेरणादायक था. निश्चित रूप से यह खिलाड़ियों के लिये संजीवनी का काम करेगा. आगे विश्व पटल पर भारतीय खेल और खिलाड़ी अपनी दमदार उपस्थिति दिखाएंगे.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में गिरफ्तार आऱोपी के निशानदेही पर पिठोरिया से 3.97 लाख नकली नोट बरामद

पहली बार देश को लॉन बॉल में पदक

गौरतलब है कि कॉमनवेल्थ गेम के इतिहास में पहली दफा लॉन बॉल के खेल में भारतीय टीम ने इस बार पदक हासिल किये. विमेंस-4 में महिलाओं ने देश को गोल्ड मेडल दिलाया था. इस टीम में झारखंड की रुपा रानी तिर्की और लवली चौबे भी शामिल थी. इसके अलावे मेंस-4 में सुनील बहादुर, चंदन कुमार सिंह और दिनेश कुमार ने देश को सिल्वर मेडल दिलाया था.

भारतीय महिला हॉकी टीम को 16 वर्षों के अंतराल के बाद कोई पदक मिला था. इस बार की भारतीय टीम में शामिल सलीमा टेटे, निक्की प्रधान और संगीता कुमारी ने अपने हुनर से देश को कांस्य पदक दिलाया.

इसे भी पढ़ें: प्राइवेटाइजेशन से घट रही नौकरी, स्वरोजगार समय की मांग: सीएम

Related Articles

Back to top button