National

पांच साल में पीएम मोदी की 44 विदेश यात्राओं पर खर्च हुए 443.4 करोड़

NewDelhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  के कार्यकाल में  पिछले पांच साल में उनकी  विदेश यात्राओं पर कुल 443.4 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं.   हिन्दुस्तान टाइम्स की एक खबर के अनुसार, प्रधानमंत्री की आधिकारिक एअरलाइन्स एअर इंडिया ने पांच सालों के दौरान पीएम मोदी द्वारा की गयी 44 विदेश यात्राओं का बिल पीएमओ भेजा है. यह रकम पीएमओ  एअर इंडिया के खाते में जमा करायेगा. बता दें कि  443 करोड़ रुपए के बिल में सिर्फ ईंधन, एअरक्राफ्ट का किराया और क्रू का बिल शामिल है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार, जापान, सिंगापुर, मालदीव, अर्जेंटीना, दक्षिण कोरिया की विदेश यात्राओं का बिल अभी तक एअर इंडिया द्वारा नहीं भेजा गया है.

जान लें कि  पीएम मोदी के आलोचक उनकी विदेश यात्राओं को लेकर सवाल उठाते रहे हैं.  हालांकि इस रिपोर्ट के अनुसार पीएम मोदी की 44 विदेश यात्राओं पर खर्च की गयी राशि उनके पूर्ववर्ती डॉ मनमोहन सिंह की साल 2009-2014 तक की विदेश यात्राओं के खर्च की तुलना में कम है.

इसे भी पढ़ें – शहरी मतदाताओं का मूड भाजपा के लिए खतरे की घंटी : एडीआर का सर्वे

मनमोहन सिंह ने 38 विदेश यात्राएं की

मनमोहन सिंह ने इस दौरान 38 विदेश यात्राएं की और इन यात्राओं पर कुल 493.22 करोड़ रुपए खर्च हुए. हालांकि एअर इंडिया द्वारा भेजे गये बिल में विदेश यात्राओं के बिल और इस महीने होने वाली यूएई की यात्रा के बिल को भी जोड़ दिया जाये  तो यह मनमोहन सिंह की यात्रा खर्चों से ज्यादा हो जायेगा.  इस क्रम में बता दें कि  पीएम मोदी ने नेपाल, बांग्लादेश, ईरान और सिंगापुर की यात्रा भारतीय वायुसेना के बिजनेस जेट से की थी और इनका बिल भी उपरोक्त बिल में शामिल नहीं है.

सेंट्रल एशिया की यात्रा में पीएम मोदी ने एक साथ छह देशों की यात्रा की

पीएम मोदी के यात्रा खर्च के कम रहने का कारण पीएम मोदी द्वारा एक ही ट्रिप पर कई देशों की यात्रा करना रहा है. पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल के दौरान ऐसी कई यात्राएं की, जिनमें उन्होंने 2 या 2 से ज्यादा देशों की एकसाथ यात्राएं की.  सेंट्रल एशिया की यात्रा में तो पीएम मोदी ने एक साथ छह देशों उज्बेकिस्तान, कजाखिस्तान, रुस, तुर्कमेनिस्तान, किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान की यात्रा की थी.  इस महीने के अंत में पीएम मोदी यूएई की यात्रा करेंगे, जो उनके पहले कार्यकाल की अंतिम विदेश यात्रा होगी.  इस यात्रा के दौरान उन्हें यूएई के सर्वोच्च सम्मान जायद मेडल से सम्मानित किया जायेगा, जो कि उन्हें दोनों देशों के संबंधों को बेहतर बनाने के लिया दिया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – रांची से संजय सेठ, चतरा से सुनील सिंह और कोडरमा से अन्नपूर्णा होंगी बीजेपी की उम्मीदवार

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close