National

#PMModi ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करना जरूरी, बयान बहादुर राम मंदिर को लेकर अनाप-शनाप बयान न दें…  

Nasik :  मैं बयान बहादुरों से निवेदन करता हूं कि भगवान राम के लिए सुनवाई में अड़ंगा न डालें. देश को सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  गुरुवार को  नासिक में आयोजित सभा में यह बात कही. जान लें कि प्रधानमंत्री मोदी ने नासिक में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव प्रचार का बिगुल फूंका. सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, कुछ बड़बोले लोग अयोध्या में राम मंदिर को लेकर अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं. इस क्रम में कहा कि  देश के सभी लोगों के मन में सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करना जरूरी है.

पीएम मोदी ने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है.  कोर्ट में सभी लोग अपनी बात रख रहे हैं.  ऐसे में  बयान बहादुर कहां से आ गये?  कहा कि मैं ऐसे बयान बहादुर लोगों को हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि भगवान के लिए, भगवान राम के लिए भारत की न्याय प्रणाली में विश्वास रखें और आंख बंद करके कुछ भी अनाप-शनाप न बोलें.

इसे भी पढ़ेंः SC के सीनियर वकील हरीश साल्वे ने #EconomicSlowDown के लिए सुप्रीम कोर्ट के कुछ फैसलों को जिम्मेदार ठहराया

हमें नया कश्मीर बनाना है

Sanjeevani

सभा में पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर पर भी अपनी बात रखी.  इस क्रम में उन्होंने कहा. हमें नया कश्मीर बनाना है.    जम्मू-कश्मीर में भारत के संविधान को समग्रता से लागू करना सिर्फ एक सरकार का फैसला नहीं है. यह  130 करोड़ भारतीयों की भावनाओं का प्रकटीकरण है.  यह फैसला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को हिंसा-अलगाववाद, आतंकवाद के कुचक्र से निकालने के लिए भारत की एकता अखंडता के लिए है.   पीएम ने कहा, कल तक हम कहते थे कि कश्मीर हमारा है, अब हर हिंदुस्तानी कहेगा, हमें नया कश्मीर बनाना है, हर कश्मीरी को गले लगाना है और हमें वहां फिर से स्वर्ग बनाना है.

शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता गलत बयान दे रहे हैं

40 साल तक 42,000 लोगों को जिस धरती पर मौत के घाट उतार दिया गया, जो धरती रक्त से रंग दी गयी.  130 करोड़ देशवासियों का संकल्प है कि फिर एक बार उस कश्मीर को स्वर्ग बनाकर रहेंगे.  उन्होंने विपक्ष की आलोचना करते हुए कहा, ‘यह दुर्भाग्य है कि शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता गलत बयान दे रहे हैं. उन्हें पड़ोसी देश अच्छा लगता है.  वहां के शासक-प्रशासक उनको कल्याणकारी लगते हैं लेकिन पूरा महाराष्ट्र, पूरा भारत जानता है और पूरी दुनिया जानती है कि आतंक की फैक्ट्री कहां पर है.

इससे पहले अपने भाषण की शुरुआत में रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि महाराष्ट्र जिस तेजी से आगे बढ़ सकता था और जिस सामर्थ्य के साथ देश को आगे लेकर जा सकता था, अकेले मुंबई की चकाचौंध में दूर-दराज क्षेत्र, गांव, गरीब किसान राजनीतिक अस्थिरता के शिकार हो गए। सीएम देवेंद्र फडणवीस की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि उन्होंने एक स्थिर और विकासशील सरकार राज्य को दी है.  उन्होंने लोगों से दोबारा देवेंद्र फडणवीस को लाने की अपील की.

उन्होंने कहा कि पॉलिटिकल पंडित गठबंधन के समीकरणों में उलझे रहते हैं.  जनता के प्रति समर्पण भाव की एक ताकत होती है जिसका फायदा महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस को और गुजरात में उनको मिला.  लोकसभा चुनाव में मिली जीत की ओर इशारा करते हुए पीएम ने कहा कि 60 साल के बाद पहली बार एक सरकार दोबारा चुनकर आयी और पहले से ज्यादा ताकत लेकर आयी.

इसे भी पढ़ेंः13 महीने के वेतन पर बोले पुलिस कर्मी- हमें सरकारी कैलेंडर में जितनी छुट्टी है दे दें और कुछ नहीं चाहिए

Related Articles

Back to top button