Jharkhand Vidhansabha ElectionRanchi

जिस बिरंची नारायण का प्रचार करने जिलाध्यक्ष तक नहीं जा रहे, उसके लिए आ रहे हैं पीएम मोदी

Akshay Kumar Jha

Ranchi: मशहूर फिल्म लावारिस की वो चंद लाइने ‘जिसका कोई नहीं उसका तो खुदा है यारों’ बोकारो बीजेपी की राजनीति पर खूब फिट बैठ रही है. उम्मीदवारों की पहली सूची जारी होने से ठीक एक दिन पहले एक वीडियो वायरल हुआ. जिसके बाद बोकारो विधायक बिरंची नारायण की खूब फजीहत हुई.

टिकट तो मिली लेकिन उन्हें अपने विधानसभा में अपनी ही पार्टी की तरफ से वो समर्थन नहीं मिल रहा है, जिसकी उन्हें उम्मीद थी.

झारखंड में सबसे ज्यादा वोटों से जीतने वाले बिरंची नारयण की सभाओं में साफ तौर से देखा जा सकता है कि पार्टी का कोई भी बड़ा चेहरा वहां मौजूद नहीं रहता.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंः#JharkhandElection: वोट मांगने गये मंत्री बाउरी और सीटिंग MLA बाटुल का लोग खुलकर कर रहे विरोध, वीडियो वायरल

गौर करने वाली बात है कि नामांकन के दिन भी बिरंची नारायण को सिर्फ धनबाद सांसद पीएन सिंह का साथ मिला. जबकि पास के बेरमो विधानसभा के बीजेपी उम्मीदवार योगेश्वर महतो बाटुल के नामांकन के लिए खुद झारखंड के सीएम रघुवर दास मौजूद थे.

गोमिया के बीजेपी उम्मीदवार लक्ष्मण नायक के समर्थन में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र राय ने लोगों को संबोधित किया. वहीं बिरंची के नामांकन के लिए ढुल्लू महतो जिन्हें नामांकन के वक्त बोकारो में मौजूद रहना था, उन्होंने भी बोकारो आने से मना कर दिया.

लेकिन अब जो बोकारो के बीजेपी उम्मीदवार बिरंची के प्रचार में बोकारो आने वाले हैं, उन्हें बीजेपी में खुदा का दर्जा दिया जाता है. बात हो रही है पीएम नरेंद्र मोदी की. नरेंद्र मोदी नौ दिसंबर को बोकारो के सेक्टर पांच स्थित मैदान में सभा करने आ रहे हैं.

ओम माथुर का स्वागत करने जिलाध्यक्ष लेकिन प्रचार में नहीं दिखते

पीएम मोदी के बोकारो आने की सूचना के बाद बीजेपी के पदाधिकारी बोकारो में तैयारियों का जायजा लेने के लिए लगातार आ रहे हैं. उसी क्रम में एक दिसंबर को बीजेपी के चुनाव प्रभारी ओम माथुर बोकारो पहुंचे. ओम माथुर के स्वागत में वहां बोकारो के जिलाध्यक्ष विनोद महतो को देखा गया.

इसे भी पढ़ेंःसरकार के पास 360 करोड़ बकाया होने पर अब PVUNL के कांट्रैक्टर और सप्लायर ने किया ऊर्जा निगम पर केस

पत्रकारों ने उनसे सवाल भी किया कि वो आखिर बिरंची के प्रचार अभियान से दूर क्यों हैं. उन्होंने इस सवाल का जवाब नहीं दिया. जाहिर सी बात है कि मोदी की रैली के दिन भी वो दिखेंगे, लेकिन अपने उम्मीदवार के प्रचार अभियान में अभी तक उन्हें दूर ही देखा गया है.

जबकि पास के विधानसभा सीट चंदनकियारी में बीजेपी के उम्मीदवार अमर बाउरी के नामांकन में जिलाध्यक्ष विनोद महतो को देखा गया. सोशल मीडिया पर भी लोग सवाल कर रहे हैं कि आखिर बिरंची नारायण के प्रचार में प्रदेश का कोई भी स्टार प्रचारक क्यों नहीं आया.

चार्जशीटेड घोटालेबाज, मर्डर के आरोपी का मोदी कर चुके हैं प्रचार

ऐसा नहीं है कि वीडियो वायरल होने के बाद फजीहत झेल रहे बोकारो के बीजेपी उम्मीदवार बिरंची नारायण के प्रचार में ही मोदी बोकारो आ रहे हैं. बल्कि इससे पहले उन्होंने झारखंड में प्रचार अभियान की शुरुआत ही भवनाथपुर के उम्मीदवार भानू प्रताप शाही और शशिभूषण मेहता से की थी.

भानू प्रताप शाही 130 करोड़ के दवा घोटाला और शशिभूषण मेहता मर्डर के आरोपी हैं. दोनों पर चार्जशीट तक दायर हो चुकी है. लेकिन इस बात को दरकिनार कर ना सिर्फ बीजेपी की तरफ से उन्हें टिकट बल्कि नरेंद्र मोदी प्रचार भी करने आए.

इसे भी पढ़ेंः#DishaCase: पुलिस #Encounter में मारे गये हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button