JharkhandLead NewsNationalNEWS

अमेरिका में PM MODI: हैरिस को भारत आने का दिया निमंत्रण, सहयोग बढ़ाने पर जोर  

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के दौरे पर है. गुरुवार को उन्होंने विभिन्न कंपनियों के सीईओ के साथ बैठक व उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की. पीएम मोदी कोरोना काल में मिली अमेरिकी मदद के लिये आभार जताया. पीएम मोदी ने उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को भारत आने का निमंत्रण दिया. दोनों नेताओं ने मुलाकात के बाद संयुक्त बयान भी जारी किया. कमला हैरिस ने दुनियाभर में लोकतंत्र को मजबूत बनाने की दिशा में आपसी सहयोग पर जोर दिया. हैरिस ने कहा कि भारत अमेरिका का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भागीदार है.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand Corona Update: 24 घंटे में 16 संक्रमित मिले, 9 सिर्फ रांची से  

अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने कहा, जहां तक हिंद-प्रशांत क्षेत्र की बात है, अमेरिका उसका गौरवान्वित सदस्य है. हम दृढ़ता के साथ महसूस करते हैं कि हमें हिंद-प्रशांत को खुला क्षेत्र रखना है. जैसे-जैसे दुनियाभर में लोकतंत्र खतरे में आ रहे हैं. यह जरूरी है कि हमारे सामने कितनी ही चुनौतियां आएं, हम यह साबित करें कि हम अपने यहां और दुनिया में लोकतांत्रिक मूल्यों और लोकतांत्रिक संस्थानों की रक्षा कर सकें.

advt

 

हैरिस ने आगे कहा, भारत वैक्सीनेशन के लिए दूसरे देशों के लिए महत्वपूर्ण स्रोत रहा है. भारत जल्द ही वैक्सीन के निर्यात की फिर से शुरूआत करने वाला है, मैं इसका स्वागत करती हूं. भारत में रोज़ 1 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है, जो बहुत ही प्रभावशाली कदम है. कमला हैरिस ने अपने संबोधन के दौरान कोविड प्रबंधन को लेकर भारत के प्रयासों और वैक्सीनेशन अभियान की सराहना की. साथ ही वैक्सीन निर्यात फिर से शुरू किए जाने के भारत के फैसले का भी स्वागत किया. अमेरिका और भारत को महत्वपूर्ण साझीदार बताते हुए उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में आपसी सहयोग पर जोर दिया.

adv

इसे भी पढ़ेंःमुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को धमकी मामले में जांच के लिए सीआईडी ने इंटरपोल से मांगी मदद

अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने इस दौरान दुनियाभर में लोकतांत्रिक मूल्यों को मजबूत करने में भी भारत के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई और कहा कि आज पूरी दुनिया में लोकतंत्र के लिए खतरा पैदा होता जा रहा है. ऐसे में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में भारत और दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र के रूप में अमेरिका को साथ मिलकर और इस दिशा में मजबूती के साथ काम करने की जरूरत है. उनके इस बयान को चीन पर निशाने के तौर पर देखा जा रहा है.

 

दोनों नेताओं के बीच जलवायु परिवर्तन के मसले पर भी चर्चा हुई. कमला हैरिस ने यह कहते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की कि इस क्षेत्र में आपकी व्यक्तिगत रुचि भी है और इसलिए इस दिशा में नए सिरे से सहयोग की संभावनाएं तलाशी जानी चाहिए.

पीएम मोदी ने कहा, मेरे और मेरे डेलिगेशन का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए मैं आभारी हूं. कुछ दिन पहले मुझे टेलिफोन से आपसे बात करने का मौका मिला था. आपसे आत्मीय तरीके से संवाद करने का जो अवसर मिला था, उसके लिए मैं आभारी हूं. ये वो समय था, जब भारत कोरोना की दूसरी लहर से पीड़ित था. उस समय जिस आत्मीयता से आपने भारत की मदद के लिए हाथ बढ़ाया. उसके लिए मैं फिर से आपका आभार व्यक्त करता हूं.

 

अमेरिका ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच सच्चे मित्र की तरह मदद की. कोरोना जलवायु, क्वाड पर अमेरिका ने अहम पहल की. विश्व की सबसे बड़ी और सबसे पुराने लोकतंत्र के रूप में भारत और अमेरिका नेचुरल पार्टनर हैं. हमारा तालमेल और सहयोग भी निरंतर बढ़ता जा रहा है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: