न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम मोदी एससीओ के शिखर सम्मेलन में शामिल होने बिश्केक पहुंचे,  इमरान के साथ एक मंच पर होंगे

पीएम मोदी के कई देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे और भारत की रणनीति में मध्य एशिया के महत्व को हाईलाइट करेंगे.

31

NewDelhi : शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिश्केक पहुंच गये हैं.  शिखर सम्मेलन 13 और 14 जून को आयोजित हो रहा है.  इस क्रम में पीएम मोदी के कई देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे और भारत की रणनीति में मध्य एशिया के महत्व को हाईलाइट करेंगे. पीएम मोदी एससीओ शिखर सम्मेलन से इतर किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव के साथ भी द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.  मोदी ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी से भी मुलाकात करेंगे. सूत्रों के अनुसार इस दौरान पीएम मोदी और हसन रुहानी के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हो सकती है.

पीएम मोदी ने किर्गिस्तान के बिश्केक में आयोजित एससीओ के शिखर सम्मेलन में पहुंचने से पहले बयान जारी कर कहा, ‘इस शिखर सम्मेलन में वैश्विक सुरक्षा की स्थिति, बहुपक्षीय आर्थिक सहयोग, लोगों से लोगों का संपर्क बढ़ाने समेत अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय महत्व के प्रासंगिक विषयों पर चर्चा होने की उम्मीद है. मेरी इस सम्मेलन से इतर कई नेताओं से मुलाकात करने और द्विपक्षीय बातचीत करने की भी योजना है.

इसे भी पढ़ेंः   अरविंद सुब्रमण्यम का दावा, 2011-12 से 2016-17 के बीच में जीडीपी सात फीसदी नहीं,  4.5 फीसदी की दर से बढ़ी

भारत और किर्गिस्तान के रिश्ते ऐतिहासिक और मजबूत

यह पहला मौका होगा जब पीएम मोदी और इमरान खान किसी अंतरराष्ट्रीय मंच पर आमने-सामने होंगे. हालांकि दोनों नेताओं के बीच किसी द्विपक्षीय मुलाकात की संभावना को भारत ने सिरे से खारिज कर दिया है.एससीओ शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहे किर्गिस्तान का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, भारत ने किर्गिस्तान की अध्यक्षता को पूरा सहयोग दिया है. एससीओ शिखर सम्मेलन के समाप्त होने के बाद 14 जून को मैं किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव से द्विपक्षीय वार्ता करूंगा.

भारत में किर्गिस्तान के राजदूत अलोक डिमरी ने कहा कि दोनों देशों के नेताओं के बीच कई मुद्दों पर चर्चा होगी. दोनों नेता कनेक्टिविटी के मुद्दे पर भी बातचीत करेंगे. हाल ही में पाकिस्तान ने भारतीयों के लिए अपने एयरस्पेस को बंद कर दिया था, जिसके चलते भारतीय नागरिकों और छात्रों को खासी दिक्कतों को सामना करना पड़ा. किर्गिस्तान के राजदूत ने कहा, भारत और किर्गिस्तान के रिश्ते ऐतिहासिक और मजबूत हैं. हम एक दूसरे से बहुत दूर नहीं हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी साल 2015 में मध्य एशियाई देश किर्गिस्तान का दौरा किया था. अब चार साल बाद फिर पीएम मोदी किर्गिस्तान के दौरे पर जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःअमेरिका पर छाया पीएम का जादूः विदेशी मंत्री पोम्पिओ ने कहा- ‘मोदी है तो मुमकिन है’

किर्गिस्तान के राष्ट्रपति जीनबेकोव पीएम मोदी के शपथग्रहण समारोह में दिल्ली आये थे

10 दिन पहले ही किर्गिस्तान के राष्ट्रपति जीनबेकोव पीएम मोदी के शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली आये थे. अब पीएम मोदी के दौरे को लेकर जबरदस्त उत्साह और उम्मीदे हैं. किर्गिस्तान के राष्ट्रपति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वैश्विक नेता के रूप में देखते हैं. उन्होंने बताया कि दोनों नेता संयुक्त रूप से भारत-किर्गिस्तान बिजनेस फोरम की पहली बैठक को भी संबोधित कर सकते हैं. हाल ही में किर्गिस्तान के साथ रिश्तों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि रक्षा, सुरक्षा, कारोबार और निवेश समेत कई क्षेत्रों में भारत और किर्गिस्तान के द्विपक्षीय संबंध मजबूत हुए हैं.

पीएम मोदी  दोपहर बाद साढ़े चार बजे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.-शाम साढ़े पांच बजे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय बातचीत करेंगे. शाम साढ़े छह बजे किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव के अनौपचारिक रात्रिभोज में हिस्सा लेंगे.  रात 10 बजे अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.

इसे भी पढ़ेंःगुजरात तट को छू कर निकल जाएगा चक्रवात वायु, अलर्ट जारी, 70 ट्रेनें रद्द

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: