ChaibasaCrime NewsJharkhandLead News

2 लाख रुपये का इनामी पीएलएफआइ का एरिया कमांडर अजय पूर्ति 7 सहयोगियों के साथ गिरफ्तार

Chaibasa : चाईबासा पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पीएलएफआइ उग्रवादी शनिचर सुरीन के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने पीएलएफआइ के एरिया कमांडर अजय पूर्ति को उसके सात सहयोगयों के साथ गिरफ्तार किया है. ₹200000 का इनामी रहा अजय पूर्ति पहले से कुल 50 कांडों में वांछित रहा है. उक्त बातें जिले के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने प्रेस वार्ता में कहीं.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी कि प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआइ का एरिया कमांडर अजय पूर्ति अपने दस्ते के साथ बंदगांव थाना क्षेत्र के ग्राम ईटी बिरदा के जंगल पहाड़ी क्षेत्रों में भ्रमण कर रहा है.

इस सूचना के सत्यापन पर कार्रवाई करते हुए पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा और समादेष्टा आनंद जेराई की मोनिटरिंग में सहायक पुलिस अधीक्षक सह अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नाथू सिंह मीणा एवं सीआरपीएफ 60 बटालियन के विकास सिंह के नेतृत्व में अभियान दल का गठन किया गया.

इसे भी पढ़ें :CBSE 12th board results : परीक्षाफल तैयार करने के लिए स्कूलों की समय-सीमा 25 जुलाई तक बढ़ाई

advt

अभियान के दौरान पूर्व से कई कांडों में वांछित प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआइ के कमांडर अजय पूर्ति उर्फ मनोज पूर्ति को उसके सात अन्य सहयोगियों अकिला सांडी पूर्ति, डुपन कंडुलना, हेरमन सांडी उर्फ सुखराम सांडी पूर्ति, दोसरो मुंडा, पौलुस सांडी पूर्ति, गालू सांडी पूर्ति, और प्रभु सहाय सिरूम को गिरफ्तार किया गया है.

प्रतिबंधित पीएलएफआइ का कमांडर अजय पूर्ति उर्फ मनोज पूर्ति पर झारखंड सरकार के द्वारा ₹200000 का इनाम घोषित है. जिसके विरुद्ध सुरक्षाबलों द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा था.

इसे भी पढ़ें :74 हजार सेविका-सहायिका को मिलेगा चार महीने का मानदेय, आंदोलन स्थगित

अजय पूर्ति के विरुद्ध हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी, आगजनी, पुलिस पार्टी पर हमला एवं अन्य नक्सली घटनाओं से संबंधित 50 कांड दर्ज हैं. जिसमें चाईबासा जिला में कुल 93 कार्ड और खूंटी जिला में सात कांड दर्ज हैं. यह झारखंड पुलिस के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है.

पुलिस ने इन लोगों के पास से दो देसी कट्टा, 8 जिंदा गोली, एक वायरलेस सेट एवं चार्जर, 5 मोबाइल फोन, 6 पीस सिम कार्ड, 5 पिट्ठू बैग, 2 मोटरसाइकिल, प्रतिबंधित पीएलएफआइ संगठन के लेवी मांगने की पर्ची एवं चंदा रसीद के साथ अन्य दैनिक जरूरत के सामान बरामद किये गये हैं.

इसे भी पढ़ें :बिहारः केंद्र सरकार का दावा ऑक्सीजन की कमी से कोई नहीं मरा, विपक्ष ने कहा- झूठ बोलते हैं स्वास्थ्य मंत्री

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: