न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएलएफआई ने ली कोयला व्यवसायी चंदन सिंह की हत्या की जिम्मेदारी

1,110

Ranchi : सोमवार की देर रात रामगढ़ के कुजू में हुई कोयला व्यवसायी चंदन सिंह की हत्या की जिम्मेदारी पीएलएफआई (पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया) के विकास महतो ने ली है. पीएलएफआई के जोनल सचिव विकास महतो ने प्रेस बयान जारी कर कुजू के कोयला व्यवसायी चंदन सिंह की हत्या की जिम्मेदारी अपने ऊपर लेने की बात कही है. विकास महतो ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि चंदन सिंह चोर गिरोह में श्रीवास्तव के नाम से आम लोगों को परेशान किया करता था. वह लोगों से रंगदारी वसूलने तथा गरीब जनता को डरा-धमका कर उनकी जमीन हड़प लिया करता था. इसके अलावा जुआ खेलाकर लोगों से पैसे लूटता था, गरीबों का शोषण करता था, क्षेत्र में लोगों के साथ मारपीट कर दहशत बनाता था. इसके अलावा चंदन पुलिस की दलाली भी करता था. इस कारण पीएलएफआई की शहरी एक्शन टीम ने विकास महतो के नेतृत्व में घटना को अंजाम दिया.

उग्रवादियों का शहरी एक्शन ग्रुप  रांची में भी सक्रिय

पीएलएफआई का प्रभाव क्षेत्र गुमला, सिमडेगा, लोहरदगा और खूंटी जिला रहे हैं. पीएलएफआई कोयला खनन इलाकों में भी पांव पसार रहा है. अब यह शहरी एक्शन ग्रुप बनाकर शहरी क्षेत्रों में भी अपना पांव पसार रहा है. राजधानी रांची में भी पीएलएफआई का शहरी एक्शन ग्रुप कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है. इससे पुलिस-प्रशासन के समक्ष नयी चुनौती सामने आ गयी है.

कौन था चंदन सिंह

चंदन सिंह रामगढ़ में कोयला कारोबारी था. पिछले सोमवार की देर रात को चंदन की हत्या कर दी गयी थी. चंदन को गोलियों से भून दिया गया था. इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी थी. मिली जानकारी के अनुसार रात दो बजे चंदन को किसी ने फोन कर कुजू के श्रीराम चौक पर बुलाया था. जब चंदन वहां पहुंचा, तो घात लगाये अपराधियों ने उस पर ताबड़तोड़ नौ गोलियां दाग दी थीं. बता दें कि एक सप्ताह पहले रामगढ़ के गोला थाना क्षेत्र में अपहरण की दो वारदातें हुई थीं. साथ ही कुजू थाना क्षेत्र में अंधाधुन फायरिंग कर हत्या की गयी थी. लेकिन, अभी तक पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला है, जो पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े कर रही हैं. इसी बीच पीएलएफआई ने कोयला व्यवसायी चंदन सिंह की हत्या की जिम्मेदारी लेकर इस घटना को नया मोड़ दे दिया है, जो अब पुलिस के समक्ष नयी चुनौती बन गयी है.

पुलिस ने चंदन के दोस्त को लिया था हिरासत में

चंदन सिंह की गोली मारकर हत्या किये जाने के बाद पुलिस ने उसके दोस्त रवि को हिरासत में लिया था, क्योंकि घटना के तुरंत बाद रवि ने ही पुलिस को सूचना दी थी. घटनास्थल से पुलिस ने 10 खोखे बरामद किये थे. इस घटना के पीछे कुछ स्थानीय लोग आपसी रंजिश की भी बात कह रहे थे, क्योंकि चंदन कोयले का कारोबार करता था. हालांकि, पुलिस ने आपसी रंजिश की बात नहीं कही थी.

इसे भी पढ़ें-  रामगढ़ में कोयला व्यापारी की गोली मारकर हत्या, पुलिस की जांच जारी

इसे भी पढ़ें- किसके लिए रिश्वत वसूल रहे थे बोकारो डीसी के पीए मुकेश कुमार ?

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: