National

नायडू के धरनास्थल पर लगा प्लेकार्ड: ‘जिसके हाथ में जूठा कप देना था, देश दे दिया..’

New Delhi: आम चुनाव से पहले सभी राजनीतिक पार्टियां रेस हो चुकी है. आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है. वहीं बीते कुछ दिनों से आंध्र प्रदेश के सीएम नायडू और पीएम मोदी के बीच सीधे और तीखे हमले हो रहे हैं. चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर सोमवार को एकदिवसीय धरने पर है. दिल्ली स्थित आंध्र भवन में वो धरना दे रहे हैं. इसी धरनास्थल पर लगे एक प्लेकार्ड को लेकर बीजेपी ने निशाना साधा है.

बीजेपी IT सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने अपने ट्विटर हैंडल कर एक वीडियो जारी किया, जिसमें प्लेकार्ड पर लिखा है ‘जिसके हाथ में चाय का जूठा कप देना था, उसके हाथ में जनता ने देश दे दिया’.

चुनाव से पहले फिर ‘चायवाला’

Catalyst IAS
ram janam hospital

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया कि आंध्र भवन में जहां पर चंद्रबाबू नायडू धरना दे रहे हैं, वहां पर पोस्टर लगे हैं कि ‘जिसके हाथ में चाय का जूठा कप देना था, उसके हाथ में जनता ने देश दे दिया’. मालवीय ने लिखा कि विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बैकग्राउंड को लेकर हमेशा निशाना साधती हैं. उन्होंने लिखा कि क्या पिछड़ी जाति का होना या गरीब होना अभिशाप है?

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani


गौरतलब है कि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर में जनसभा के दौरान चंद्रबाबू नायडू पर तीखे हमले किये थे. साथ ही उन्हें धोखा देने वाला नेता करार दिया था. प्रधानमंत्री ने कहा था कि चंद्रबाबू नायडू दल बदलने और गठबंधन करने में सीनियर हैं, ससुर की पीठ में छुरा भोंपने में सीनियर हैं, चुनाव-दर चुनाव हारने में सीनियर हैं.

वहीं सीएम नायडू ने पीएम पर निजी हमला करते हुए कहा था कि आपने तो अपनी पत्नी को ही छोड़ दिया था. फिलहाल धरनास्थल पर लगे इस प्लेकार्ड पर राजनीति गरमाने की आशंका है. और लगता है इस प्लेकार्ड को लेकर बीजेपी विरोधियों पर हमला करने का मौका नहीं छोड़नेवाली है.

इसे भी पढ़ेंः डिजिटल युग में दबाव में है न्यायिक प्रक्रिया: न्यायमूर्ति सीकरी

Related Articles

Back to top button