न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद के पीके रॉय कॉलेज में 20 हजार छात्रों को पढ़ा रहे हैं मात्र नौ प्रोफेसर

43

Dhanbad: जिले का पीके रॉय मेमोरियल कॉलेज अपनी उच्च शिक्षा व्यवस्था के लिये हमेशा से प्रसिद्ध रहा है. 1960 में स्थापित इस कॉलेज में पढ़ने के लिये धनबाद ही नहीं बल्कि बोकारो और गिरीडीह के छात्रों भीड़ रहती है. लेकिन बीते दो सालों से इस संस्थान में प्रोफेसरों की भारी कमी है. पीके रॉय मेमोरियल कॉलेज में फिलहाल 20 हजार छात्र पढ़ते हैं. इतनी संख्या में छात्रों को पढ़ाने के लिये कॉलेज में मात्र नौ ही प्रोफसर कार्यरत हैं. जिससे हालत ये है कि छात्र अब पढ़ाई की बजाए अन्य गतिविधियों व्यस्त हैं.

22 विभाग पर हैं मात्र नौ प्रोफसर

पीके रॉय मेमोरियल कॉलेज में यूजी एवं पीजी के छात्रों के लिए कुल 22 कोर्स की पढ़ाई होती है. साथ ही 22 कोर्स में पढ़ने वाले छात्रों की संख्या भी ज्यादा ही है. जबकि इस 22 विभागों में पढ़ाने वाले प्रोफेसर्स की संख्या मात्र नौ 9 है. इसके अलावा बिनोद विहारी महतो विश्वविद्यालय के कई कोर्स भी इसी कॉलेज के भरोसे चल रहा है.

झारखंड में सबसे ज्यादा छात्र पीके रॉय कॉलेज के पास

झारखंड के कॉलेजों में धनबाद के एसएसएलएनटी कॉलेज के बाद सबसे ज्यादा छात्र पीके राय कॉलेज में ही पढ़ते हैं. एसएसएलएनटी कॉलेज में कुल 11 हजार छात्र पढ़ते हैं और कॉलेज में 30 प्रोफसर हैं. जबकि पीके रॉय कॉलेज में 20 हजार छात्रों पर मात्र नौ प्रोफसर ही हैं.

क्या कहते हैं कॉलेज के प्राचार्य बीके सिन्हा

कॉलेज में छात्रों की संख्या में 20 हजार है और प्रोफसर की कमी की वजह से छात्रों की पढ़ाई भी ठीक से नहीं हो पा रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि अुनबंध पर शिक्षक बहाल तो किये गये हैं, लेकिन उनकी संख्या कम है. जिससे कॉलेज में पढ़ाई भी सही तरीके से नहीं हो पा रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: