Corona_UpdatesNational

दिल्ली में पिज्जा बॉय निकला कोरोना पॉजिटिव, 72 घरों को किया गया सील

New Delhi :  वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से देश में लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया है. हालांकि जिस तरह से मरीजों की संख्या बढ़ रही है. उसे देखते हुए विशेषज्ञों का अनुमान है कि 3 मई तक भी स्थितियां शायद ही सुधर पायें.

हालांकि लॉकडाउन के बीच कुछ सेवाओं में छूट दी गयी हैं. उनमें से एक फूड डिलिवरी का भी है. कई जगहों पर डिलीवरी बॉय फूड डिलीवरी कर रहे हैं. लेकिन देश में जो स्थिती है ऐसे में क्या डिलीवरी बॉय से भी कोरोना फैल सकता है.

दिल्ली में एक ऐसा ही केस सामने आया है, जिसने सबको सोंचने पर मजबूर कर दिया है. दरअसल दिल्ली में पिज्जा डिलीवरी करने वाले एक डिलीवरी बॉय कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. उस डिलीवरी बॉय के रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद से सबके होंश फाख्ता हो गये हैं. उस उससे सभी ऑर्डर्स की डिटेल ली जा रही है.    फिलहाल जो डिटेल्स मिली हैं, उसके मुताबिक साउथ दिल्‍ली के 72 घरों में रहने वाले लोगों को क्‍वारेंटाइन करके रखा गया है.

इसे भी पढ़ें – समय रहते जांच की स्पीड नहीं बढ़ायी गयी तो देश को कोरोना से बचाना मुश्किल होगा : एक्सपर्ट

अभी किसी का टेस्ट नहीं किया गया है

इस बारे में साउथ दिल्‍ली के जिलाधिकारी बीएम मिश्रा का कहना है कि प्रशासन  की ओर से सभी 72 घरों के लोगों को घर पर ही रहकर क्‍वारेंटीन में रहने को कहा गया है. साथ ही कहा कि अभी तक इनमें से किसी का टेस्‍ट नहीं किया गया है.

लेकिन अगर किसी भी व्यक्ति में कोई लक्षण दिखेगा तो उसका टेस्‍ट कराया जाएगा. साथ ही ये भी पता करने की कोशिश की जा रही है कि 72 घरों के अलावा भी डिलीवरी बॉय और किन-किन लोगों के संपर्क में आया था.

इसे भी पढ़ें – इंदौर में एक साथ 110 नये कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से हड़कंप, अबतक 39 लोगों की जा चुकी है जान

डायलिसिस के लिए जाता करता था अस्‍पताल

जानकारी के मुताबिक, डिलीवरी बॉय बीते एक हफ्ते से ड्यूटी कर रहा था और कई लगों तक पिज्जा पहुंचा रहा था. लेकिन पिछले हफ्ते उसमें कोरोना के लक्षण दिखने पर जब टेस्‍ट कराया गया तो रिपोर्ट पॉजिटिव निकला. इस बारे में  अधिकारियों काकहना है कि वो डिलीवरी बॉय डायलिसिस के लिए एक अस्‍पताल गया था और शायद वहीं से वह कोरोना संक्रमित हो गया हो.

यहां बता दें कि देश कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन को 3 मई तक सरकार ने बढ़ा दिया है. जिसमें खाने और ग्रॉसरी के लिए होम डिलीवरी को छूट दी गयी है.

हालांकि कन्‍टेनमेंट जोन्‍स में आने-जाने की इजाजत नहीं दी गयी है. वहां सिर्फ जरूरी चीजों की डिलीवरी दरवाजे पर करवायी जा रही है. लेकिन अब दिल्ली के डिलीवरी बॉय के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ सकती है. इसलिए डिलीवरी बॉयज सेकुछ भी मंगाने के बाद उसे अगर पॉसिबल हो तो सैनिटाइज जरूर कर लेना चाहिए.

अब तक देश में 414 लोगों की हो चुकी है मौत

देश में कोरोना वायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या गुरुवार को 414 हो गई. वहीं संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 12,380 तक पहुंच गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों में बताया गया कि कोविड-19 के 10,477 मरीजों का अभी भी इलाज चल रहा है, जबकि 1,488 लोग ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है और एक विदेशी नागरिक अपने देश चला गया है. कुल मामलों में 76 विदेशी नागरिक शामिल हैं.

मंत्रालय के सुबह के अपडेट के अनुसार, देश में सबसे अधिक मामलों की संख्या महाराष्ट्र में है, जहां 3,081मामले हैं, इसके बाद दिल्ली में 1,578 और तमिलनाडु में 1,242 मामले हैं.

तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 14-14 लोगों के मारे जाने की सूचना है. पंजाब में 13 मौतें हुई हैं जबकि कर्नाटक में 12 मौतें हुई हैं और उत्तर प्रदेश में 11 मौतें हुई हैं. पश्चिम बंगाल में सात मौतें दर्ज की गई हैं.

जम्मू-कश्मीर में चार लोगों की जान चली गई है जबकि केरल, हरियाणा और राजस्थान में तीन-तीन मौतें हुई हैं. झारखंड में दो मौतें हुई हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मेघालय, बिहार, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा और असम में एक-एक मौत हुई है.

हालांकि, बुधवार शाम तक विभिन्न राज्यों द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के संकलन के आधार पर तैयार की गई पीटीआई की तालिका के मुताबिक, कोविड-19 के कम से कम 12,220 मामले दर्ज किए गए है और 417 मौतें हुई हैं.

विभिन्न राज्यों द्वारा घोषित किए गए मौतों की संख्या और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में अंतर रहता है, जो शायद राज्यों के मामलों की संख्या रिपोर्ट करने में प्रक्रियागत देरी के चलते ऐसा होता है.

इसे भी पढ़ें – मेडिकल पास का दुरुपयोग कर हिंदपीढ़ी से लोहरदगा पहुंचे सात लोग किये गये क्वॉरेंटाइन

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: