न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तीर्थयात्रियों से भरी बस पलटी, एक श्रद्धालु की मौत, 40 घायल

सभी श्रद्धालु उत्तर प्रदेश के गोंडा जिला निवासी

176

Dumka : तीर्थयात्रियों से भरी बस अनियंत्रित होकर पलटने से एक श्रद्धालु की मौत मौके पर ही हो गई. घटना में करीब 40 से अधिक श्रद्धालुओं को गंभीर चोट आयी है. घटना मुफसिल थाना क्षेत्र के दुमका-रामपुरहाट मुख्य पथ पर दासोरायडीह गांव के समीप बुधवार को दोपहर में घटी. घटना में मारे गये श्रद्धालु की पहचान उत्तर प्रदेश के गोंडा जिला के इटिया ठांड थाना क्षेत्र के निभिया परसापुर गांव निवासी रामराखन तिवारी (40) के रूप में हुई.

इसे भी पढ़ें – मीटर खरीद मामले में जेबीवीएनएल जिद पर अड़ा, मनमाने ढंग से टेंडर के बाद सीएमडी की चिट्ठी की भी परवाह…

तारापीठ होते हुए उड़ीसा के जगन्नाथपुरी दर्शन को जा रहे थे

hosp1

जानकारी के अनुसार सभी श्रद्धालु उत्तर प्रदेश के गोंडा जिला निवासी हैं. सभी यूपी 44 टी 3387 में सवार होकर बीते 25 सितंबर को उत्तर प्रदेश से विभिन्न धार्मिक स्थलों के तीर्थ को निकले थे. बुधवार को देवघर एवं बासुकीनाथ धाम का दर्शन कर सभी तारापीठ होते हुए उड़ीसा  के जगन्नाथपुरी दर्शन को जा रहे थे. रास्ते में मुफसिल थाना क्षेत्र के दासोरायडीह गांव के समीप तीखे मोड़ पर तेज रफ्तार होने के कारण बस अनियंत्रित होकर पलट गयी. जिसमें मौके पर ही रामराखन तिवारी की मौत हो गयी, वहीं अन्य घायल हो गये. घटना की सूचना मिलते ही एएसआइ शशिकांत ठाकुर दल-बल के साथ मौके पर पहुंच स्थानीय लोगों की मदद से बचाव कार्य प्रारंभ कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःपाकुड़ में मनरेगा घोटाला : शिबू सोरने के नाम पर 1,08,864 रुपये की अवैध निकासी

बस में कुल 58 श्रद्धालु सवार थे

घायलों को एलपी ट्रक सहित 108 एंबुलेंस में सवार कर सभी को सदर अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जहां चिकित्सकों की टीम सभी का प्राथमिक उपचार में जुट गई. घायलों में कई श्रद्धालुओं की हालत गंभीर बनी हुई है. गंभीर रूप से घायलों को वार्ड में भर्ती कर दिया गया है. वहीं अन्य घायलों को आंशिक रूप से चोट आयी है. घायलों में वृद्ध महिलाएं, वृद्ध पुरुष, बच्चे एवं जवान शामिल हैं. बस में कुल 58 श्रद्धालु सवार थे. घटना के बाद चालक फरार होने में कामयाब रहा. पुलिस बस को जब्त कर थाना ले आयी है.

इसे भी पढ़ेंःबोकारो : सिंचाई तो शुरू हुई नहीं, लाखों के चेक डैम का अस्तित्व खत्म

घायलों के नाम

घायलों में उत्तर प्रदेश के गोंडा जिला के इटिया ठाड़ गांव थाना क्षेत्र के जगरनाथपुर गांव निवासी ननका प्रजापति, नकउ, कांडर गांव के सउवाल प्रजापति, सरहारा गांव के कल्पा देवी, दुःखई प्रजापति, गोविंद प्रजापति, रामजी प्रजापति, फुलमाला देवी, इंदिरा देवी, पारसनाथ पांडेय, कोमल देवी, जयराम प्रजापति, छेदी यादव, मीना देवी, राजकिशोर शुक्ल, कमला देवी, श्यामकली देवी, सरजू प्रसाद, चिंताराम प्रजापति, झगरू स्वर्णकार, बद्री प्रसाद, संगम विशनपुर गांव के पंचम स्वर्णकार, कुमारी देवी, रूपईउीह गांव के रामदयाल प्रजापति, रामगुलाम पासवान, कमड़वा गांव के सामी यादव, पवन कुमार तिवारी, गणपतडीह गांव के सीता सिंह, बलरापुर जिला के नथईपुरूवा गांव निवासी होद्दार प्रजापति, कंचनपुर थाना के तिलकराम तिवारी, निभिया परसापुर गांव निवासी तारा देवी, सीता देवी, बद्री प्रसाद, दलपतपुर गांव निवासी रामछबिली चौहान शामिल है. वहीं थाना खरबुपुर के फ्रेंदा सुकुल गांव निवासी जगदम्मबा प्रसाद तिवारी एवं बलरामपुर थाना क्षेत्र के बलरामपुर गांव निवासी रामरूप पांडेय एवं होद्दार प्रजापति शामिल हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: