NEWS

तस्वीरों में कैद हुई चीन की नापाक हरकत, गलवान जैसी घटना को देना चाहते थे अंजाम, भारतीय सेना ने खदेड़ा

विज्ञापन

New Delhi. भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव बढ़ता जा रहा है. एलएसी पर कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जो चीन के नापाक हरकत को दिखा रही हैं.  दरअसल, पूर्वी लद्दाख में सोमवार को गलवान घाटी जैसे धोखे को दोहराने 
की चीन ने कोशिश की थी जिसे हमारे देश के वीर सपूतों ने नाकाम कर दिया.

इसे भी पढ़ें- सरकार की अपील: कोरोना से डरें वायरस की जांच कराने से नहीं, बीते सात दिनों में 7463 लोगों की संक्रमण के कारण मौत

advt

45 साल बाद चली गोली

दरअसल, रेजांग ला के उत्तर में स्थित मुखपुरी में 40-50 की संख्या में चीन के सैनिक धारदार हथियारों से लैस होकर भारतीय इलाके में चोटी पर कब्जा करने की कोशिश की थी जिस पर जवानों ने हवा में  गोली दागकर उन्हें आगाह करने के बाद खदेड़ दिया. बता दें कि दोनों देशों की सीमा पर 45 साल बाद गोली चली है. 

 
तस्वीरों से खुली पोल

दरअसल, तस्वीर सामने आई हैं जिसमें 40-50 की तादाद में चीन के सैनिक हथियारों से लैस होकर रेजांग ला के पास उन चोटियों पर आने की कोशिश कर हैं. चीनी सैनिकों के पास धारदार हथियार हैं. वे भारतीय सैनिकों से महज 200 मीटर की दूरी पर हैं. चीनी सैनिक रणनीतिक तौर पर  भारतीय चोटियों पर कब्जे की फिराक में थे. जिसके बाद भारतीय सेना ने 10-15 राउंड फायरिंग भी की थी. 

adv

दोनों सेनाओं के बीच चरम पर तनाव

पैंगोंग झील के दक्षिण किनारे पिछले तीन दिनों से चीनी सैनिक इस तरह टुकड़ी में भारत की फॉरवर्ड पोजिशन के नजदीक आने की कोशिश कर रहे हैं. अभी भी रेजांग ला के पास की चोटियों के करीब भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने हैं. मौके पर तनाव चरम पर है.

युवकों के लापता होने की पुष्टि

चीन ने अरूणाचल प्रदेश से लापता हुए पांच युवकों के अपने यहां मिलने की पुष्टि की है. इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने दी है. 

चीन का आरोप

एलएसी पर भारतीय सैनिकों पर फायरिंग का आरोप लगाते हुए चीनी विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया है. चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि 7 सितंबर को भारतीय जवानों ने अवैध रूप से पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी तट से एलएसी पार की और सीमा पर गश्त कर रहे हमारे सैनिकों पर अंधाधुंध फायरिंग की.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button