न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#BirsaMundaAirport पर पिक एंड ड्रॉप वाहन पार्किंग शुल्क से होंगे मुक्त : महेश पोद्दार

629

Ranchi: राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कहा कि यह हर्ष का विषय है कि रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर अब पिक एंड ड्रॉप के लिए प्रवेश करनेवाले वाहन पार्किंग शुल्क से मुक्त होंगे.

एयरपोर्ट परिसर में आयोजित विमानपत्तन सलाहकार समिति की बैठक में एयरपोर्ट डायरेक्टर विनोद शर्मा ने यह घोषणा की. बैठक में  महेश पोद्दार ने एयरपोर्ट की पार्किंग व्यवस्था में मौजूद विसंगतियों का विस्तार से ब्यौरा प्रस्तुत किया और इसमें सुधार के उपाय भी सुझाये.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

बैठक की अध्यक्षता रांची के सांसद संजय सेठ ने की. महेश पोद्दार ने बैठक में रांची एयरपोर्ट की वर्तमान पार्किंग व्यवस्था की विसंगतियों पर विस्तार से प्रकाश डाला.

कुछ दिनों पूर्व एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के अध्यक्ष के साथ हुए विमर्श का हवाला दिया और इस विमर्श के बाद विशाखापत्तनम एवं कोलकाता एयरपोर्ट की पार्किंग व्यवस्था में हुए सुधार का विवरण भी दिया.

उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों एवं विदेश से झारखंड आनेवाले लोगों को एयरपोर्ट ही राज्य का पहला परिचय देता है, यदि यहां की पार्किंग व्यवस्था में ही ऐसी विसंगतियां होंगी तो इससे राज्य की छवि खराब होगी.

इसे भी पढ़ें : #MedicalWaste पर स्वास्थ्य सचिव ने बैठायी जांच, बोकारो के निजी अस्पताल, बीजीएच और डायग्नोस्टिक सेंटर जद में

दो-तीन दिनों में लागू हो जायेगी व्यवस्था

स्थानीय सांसद  संजय सेठ एवं विधायक  नवीन जायसवाल सहित बैठक में शामिल सभी सदस्यों ने महेश पोद्दार का समर्थन किया. एयरपोर्ट निदेशक ने वादा किया कि दो–तीन दिनों के भीतर ही रांची एयरपोर्ट व्यवस्था लागू करते हुए पिक एंड ड्रॉप के लिए अलग लेन की व्यवस्था करते हुए इस श्रेणी के वाहनों को पार्किंग शुल्क से मुक्त कर दिया जायेगा.

बैठक की अध्यक्षता कर रहे स्थानीय सांसद  संजय सेठ ने सीएसआर के तहत ज्यादा से ज्यादा राशि उन गांवों में खर्च करने का निर्देश दिया, जिन गांवों के लोग एयरपोर्ट निर्माण की वजह से विस्थापित हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : बीजेपी में शामिल होने की अटकलों पर बाबूलाल ने कहा ‘अभी कुछ भी तय नहीं’…न्यूज विंग को बतायी पूरी कहानी

विस्थापित गांवों में सुविधाएं पहुंचायें

उन्होंने कहा कि हेथू, हुन्डरु आदि गांवों में यथाशीघ्र पेयजल, सड़क और चिकित्सा की व्यवस्था की जाये.  पाइपलाइन बिछाने या सड़क निर्माण में संभावित विवादों के समाधान के लिए शीघ्र ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों, एयरपोर्ट प्रबंधन, राज्य प्रशासन एवं सेना के प्रतिनिधियों की एक बैठक बुलाने पर भी बैठक में सहमति बनी.

संजय सेठ ने कहा कि एयरपोर्ट प्रबंधन द्वारा संचालित मेडिकल वैन की सेवा देने में भी विस्थापित गांवों को प्राथमिकता दी जाये.

स्थानीय विधायक नवीन जायसवाल ने विस्थापित गांवों के लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार देने की मांग रखी. उन्होंने एयरपोर्ट प्रबंधन से विगत दस वर्षों में सीएसआर के तहत हुए खर्च का ब्यौरा भी मांगा.

इसे भी पढ़ें :

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like