न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भौतिकी क्षेत्र के नोबेल पुरस्कार विजेता चार्ल्स काव का निधन

188

Hong Kong : ऑप्टिकल फाइबर टेक्नोलॉजी के लिए 2009 में भौतिकी का नोबेल पुरस्कार जीतने वाले चार्ल्स के. काव का रविवार को निधन हो गया. वह 84 वर्ष के थे. हांगकांग सरकार और खबरों के अनुसार, चाइनीज यूनिवर्सिटी ऑफ हांगकांग के पूर्व कुलपति काव अल्जाइमर्स से पीड़ित थे. हालांकि अभी तक काव के निधन के कारणों की पुष्टि नहीं हुई है.

इसे भी पढ़ें- घायल कमांडर अभिलाष टॉमी को समुद्र के बीच से सुरक्षित बचा लिया गया

काव के कामकाज ने ‘इंटरनेट’ को संभव बनाया

काव आईटीटी कोर में अनुसंधानकर्ता थे. 1966 में काव और उनके सहकर्मी ने एक शोधपत्र प्रकाशित किया था. जिसमें कहा गया था कि शुद्ध ग्लास फाइबर का इस्तेमान संचार माध्यम के रूप में किया जा सकता है. इस तकनीक ने नव-विकसित लेजर के साथ मिलकर संचार उद्योग को बढ़ावा दिया. ‘द साऊथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ ने अपने संपादकीय में कहा कि काव के कामकाज ने ‘इंटरनेट’ को संभव बनाया.

इसे भी पढ़ें- मालदीव : राष्ट्रपति चुनाव में चीन समर्थक यामीन हारे, भारत समर्थक इब्राहिम सोलिह जीते

Related Posts

कोरोना वायरस संकट : जापान में लागू हो सकती है इमरजेंसी,  प्रधानमंत्री ने प्रस्ताव रखा

पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 3200 के पार

1933 को शंघाई में हुआ था काव का जन्म

नोबेल फाउंडेशन की ओर से जारी जीवनी के अनुसार, चार्ल्स कुएन काव का जन्म चार नवंबर, 1933 को शंघाई में हुआ था. उनकी मां कवयित्री थीं जबकि पिता अमेरिका में शिक्षित एक न्यायाधीश थे. उनका परिवार 1948 में हांगकांग आया, जहां काव ने अपनी हाई स्कूल की शिक्षा पूरी की. उन्होंने लंदन के वूलविच पॉलिटेक्निक से इलेक्ट्रीकल इंजीनियरिंग की शिक्षा पूरी की. काव 1987-96 तक चाइनीज यूनिवर्सिटी ऑफ हांगकांग के कुलपति रहे थे.

Whmart 3/3 – 2/4

इसे भी पढ़ें- राफेल डील : ओलांद के बयान के बाद फ्रांस सरकार को डर, भारत से संबंध न बिगड़ जाये!

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like