JharkhandRanchi

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण आदिवासी समुदाय का फूल खोंसी कार्यक्रम स्थगित

Virendra kumar Mahto

Ranchi :  आदिवासी समुदायों के द्वारा बरियातू के गौतम बुद्ध मार्ग में प्रत्येक वर्ष आयोजित होने वाला “फूल खोंस” कार्यक्रम का आयोजन इस बार नहीं करने का निर्णय लिया गया है. इस कार्यक्रम में रांची शहर के विभिन्न आदिवासी हॉस्टलों के नए छात्र-छात्राओं के द्वारा फूल खोंसी का आयोजन किया जाता है. जिसमें लगभग 300 छात्र-छात्राएं शरीक होते रहे हैं.

advt
डॉ हरि उरांव.

इस कार्यक्रम का आयोजन आदिवासी समुदायों के अगुआ और सरना नवयुवक संघ के द्वारा होता है. इस आयोजन समिति के डॉ हरि उरांव ने बताया कि यह फूल खोंसी कार्यक्रम विभिन्न हॉस्टलों में रह रहे नए छात्रों के लिए होता है.

इसे भी पढ़ेंः #Lockdown : शिक्षा मंत्री की अपील, बच्चों से निजी स्कूल प्रबंधन न लें फीस, जल्द जारी करेंगे आदेश

क्या होता है इस कार्यक्रम में

इस कार्यक्रम में विभिन्न प्रकार के ट्रेडिशनल पकवान तथा शाकाहारी एवं मांसाहारी भोजन की व्यवस्था होती है. उन्होंने बताया कि इस आयोजन का मूल उद्देश्य प्रकृति पर्व की मूल बात को समझना और आने वाली पीढ़ी तक पहुंचाने का काम इन छात्रों के द्वारा करना है. उन्होंने बताया कि नये छात्र  इसके माध्यम से अपनी संस्कृति को सीखें और समझें.

इसी उद्देश्य से इसका आयोजन पूरे मोहल्लावासी करते हैं. जो नए छात्र छात्राएं रहते हैं उन्हें प्रकृति पर्व, प्रकृति के साथ कैसे तारतम्यता बना कर रखना है. जीवित रखना है और जीवन में रखना है. ये संदेश दूसरे लोगों तक कैसे पहुंचाना है, यही इस कार्यक्रम का उद्देश्य होता है.

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन रहने की वजह से यह फूल खोंसी कार्यक्रम स्थगित किया गया है. यह सुरक्षा के दृष्टिकोण से भी बहुत जरूरी है.

इसे भी पढ़ेंः दुमका: नाबालिग गैंग रेप मामले में हिरासत में दो युवक, हो रही पूछताछ

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: