न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में नियमों के अनुरूप नहीं चल रहे फार्मेसी कॉलेज

तीन कॉलेजों को छोड़ किसी ने नहीं लिया है एआइसीटीई (AICTE) से मान्यता

207

Ranchi: झारखंड में फार्मेसी कॉलेज में एडमिशन दिलाने के नाम स्‍टूडेंट्स को ठगने काम किया जा रहा है. यहां के विभिन्न जिलों में कुल 30 फार्मेसी कॉलेज हैं. लेकिन, किसी के पास इन कोर्स के लिए एआइसीटीई (AICTE)  से मान्यता नहीं है. इन कॉलेजों ने केवल फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया (PCI) से मान्यता प्राप्त कर कॉलेजों में स्‍टूडेंट्स का एडमिशन शुरू कर दिया है. वहीं यहां एडमिशन कराने आये स्‍टूडेंट्स को यह बोल के उनका एडमिशन लिया जाता है कि फार्मेसी कॉलेज को पीसीआई के अलावे किसी अन्य संस्थान से मान्यता  लेने की आवश्यकता नहीं है. जबकि नियमों के अनुसार फार्मेसी कॉलेजों को एआइसीटीई से मान्यता लेना अनिवार्य है.

इसे भी पढ़ें: JSIA के सर्वे में 91 फीसदी लोगों ने कहा, बिजली की स्थिति बदतर, अधिकारी हैं कि मिलते तक नहीं

पीसीआई के साथ एआइसीटीई से मान्यता जरूरी

hosp3

बैचलर ऑफ फार्मेसी और डिप्लोमा इन फार्मेसी कोर्स के पाठ्क्रम के लिए पीसीआई के साथ ही एआइसीटीई से मान्यता आवश्यक है, क्योंकि फार्मेसी कोर्स एक तकनीकी कोर्स है. एआइसीटीई द्वारा इस कोर्स से मान्यता प्राप्त करने का मुख्य उदेश्य है कि एआइसीटीई उस कॉलेज का आकलन करती है. जहां यह कोर्स चलाया जा रहा है, एआइसीटीई कोर्स के अनुरूप आधारभूत संचरना एवं शिक्षकों की योग्यता के आधार पर ही इन कॉलेजों को मान्यता देती थी.

इसे भी पढ़ें: नीलांबर पीतांबर विश्वविद्यालय अभिषद की 49 वीं बैठक, अक्टूबर में होगा पहला दीश्रांत समारोह

बिहार में रातों-रात सैकड़ों कॉलेज हुए थे बंद

बिहार में बिना एआइसीटीई से मान्यता प्राप्त कर सौकड़ों कॉलेज फार्मेसी कोर्स चला रहे थे. इन कॉलेजों के पास पीसीआई से मान्यता तो थी. लेकिन, एआइसीटीई से मान्यता नहीं होने के कारण इन कॉलेजों में ताला लग गया. जैसे ही इन कॉलेजों की सूची एआइसीटीई के पास उपलब्ध हुई, उसने इन कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया.

इन कॉलेजों के पास है एआइसीटीई से मान्यता

  • रांची कॉलेज ऑफ फार्मेसी
  • बीआइटी मेसरा
  • बरियातू कॉलेज ऑफ फार्मेसी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: