न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अचीवमेंट ट्री के कारण बेहतर हुआ स्टूडेंट्स का परफॉर्मेंस, पेरेंट्स को भी कर रहा आकर्षित

डीपीएस के रिजल्ट में 5 फीसदी की बढ़ोतरी

564

Ranchi: किसी पेड़ के कारण स्कूल के बच्चों के रिजल्ट में सुधार हो जाये, ये बात सुनने में थोड़ी अजीब लगती है. लेकिन रांची के दिल्ली पब्लिक स्कूल के कैंपस में एक ऐसा पेड़ है जिसके कारण स्कूल के बच्चों के रिजल्ट में पांच फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गयी है. दरअसल, डीपीएस कैंपस में अचीवमेंट ट्री बनाई गई है, जो बच्चों और अभिभावकों के लिए इन दिनों आकर्षण केंद्र बना हुआ है.

इसे भी पढ़ेंः ताश के पत्तों की तरह फेंटे जा रहे अफसर, एक सप्ताह में बदल दिये गये 304 अफसर

इस पेड़ के नीचे आते ही बच्चे और उनके अभिभावक काफी गर्व महसूस करते हैं. दरअसल, इस पेड़ की डालियों में उन बच्चों के अचीवमेंट को सहजने का कार्य किया गया है, जिन्होंने स्कूल में पढ़ाई करने या पढ़ाई के बाद विभिन्न प्रतियोगिताओं में सफलता हासिल की है.

अचीवमेंट ट्री के माध्यम से उन छात्रों को स्कूल प्रबंधन ने कैंपस में एक विशेष पहचान दी है, ताकि इस पेड़ के नीचे आनेवाला हर कोई उनकी प्रतिभा को देख सके. वहीं स्कूल में अचीवमेंट ट्री के आने से स्कूल के छात्रों में गजब का परिवर्तन देखने को मिला है. स्कूल प्रबंधन की मानें तो इस पेड़ के लगने से छात्रों के रिजल्ट में औसतन पांच फीसदी की वृद्धि हुई है.

इसे भी पढ़ेंः दिखावे की “चकाचौंध” में राज्य को डूबा तो नहीं रही “सरकार” ?

2016 में लगा अचीवमेंट ट्री

डीपीएस स्कूल कैंपस में 2016 एक पेड़ पर उन बच्चों के नाम साथ उनकी सफलता को दर्शाया गया, जो छात्रों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में हासिल की है. स्कूल प्रबंधन इस पेड़ का नाम दिया अचीवमेंट ट्री. इस पेड़ पर स्कूल के सफल छात्रों के नाम के साथ उनकी फोटो और उन्होंने किस क्षेत्र में सफलता प्राप्त की है उसका वर्णन किया है.

स्टूडेंट्स को मोटिवेट करने की कोशिश

palamu_12

लगातार दो सालों से इस पेड़ पर स्कूल के प्रतिभावान बच्चों के सम्मान को दर्ज किया जाता है. इस स्कूल कैंपस में पढ़ने वाले बच्चे जब इस पेड़ के नीचे आते हैं, तो वो भी इस प्रयास में रहते हैं कि उनका भी नाम इस पेड़ पर दर्ज हो. पेड़ से प्रभावित होकर बच्चे पाठ्यक्रम में अपनी रूचि लगाते हैं यही कारण है कि स्कूल के रिजल्ट में गत वर्ष पांच फीसदी की वृद्धि दर्ज की गयी.

इसे भी पढ़ें – पूर्व सीएस राजबाला वर्मा हो सकती हैं JPSC की अध्यक्ष! पहले सरकार की सलाहकार बनने की थी चर्चा

बच्चों के प्रतिभा को दी पहचान- प्राचार्य

डीपीएस के प्राचार्य डॉ राम सिंह ने कहा बच्चों में अचीवमेंट ट्री के आने से परीक्षाफल में वृद्धि देखने को मिला है. साथ ही स्कूल के बच्चों एवं अभिभावकों यह ट्री काफी प्रभावित करती है. बच्चों के प्रतिभा को इस पेड़ के माध्यम से एक नयी पहचान देने की कोशिश की जा रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: