GarhwaJharkhandLead News

सांसद आदर्श ग्राम में पीने के पानी को मोहताज लोग, आजादी के 73 वर्ष बाद भी गांव तक नहीं पहुंचा स्वच्छ पानी

Garhwa : गढ़वा जिले के बंशीधर नगर प्रखंड के सांसद आदर्श गांव गरबांध के ग्रामीण पेयजल संकट से जूझ रहे हैं. सोलर टंकी के पास बड़ी संख्या में महिलाएं पेयजल के लिए सुबह से ही अपने बर्तनों को रखकर खड़ी रहती हैं. पीने का पानी लेने के लिए सुबह 7 बजे से शाम 4.30 बजे तक सोलर टंकी सहित अन्य स्थानों पर महिलाओं की भीड़ लगी रहती है.

अनुमंडल मुख्यालय से लगभग 8 किलोमीटर दूर उत्तर दिशा में स्थित गरबांध गांव के ग्रामीण आजादी के 73 वर्ष बाद भी पेयजल संकट से जूझ रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :Breaking News : काशी विश्वनाथ मंदिर व ज्ञानवापी मस्जिद मामले में पुरातात्विक सर्वेक्षण को दी मंजूरी

गरबांध की आबादी 11000 की है. यह गांव 17 टोला में विभाजित है. कुछ माह पूर्व ही सांसद विष्णु दयाल राम ने इस गांव को आदर्श ग्राम के अंतर्गत गोद लिया है.

आपको बता दें कि कुछ दिन सांसद वीडी राम की बेटी गरबांध गांव में घूम घूम कर पेयजल, शिक्षा और स्वास्थ्य को लेकर आश्वासन दिया था, कि जल्द ही सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगा, लेकिन गर्मी आते ही गरबांध में पेयजल की समस्या उत्पन्न हो जाती है.

इसे भी पढ़ें :24 घंटे में लेना था एक्शन डेढ़ महीने से पेंडिंग है कंप्लेंट, किसी काम का नहीं निगम का नंबर.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: