JharkhandRanchi

लोगों को असुविधा न हो इसलिए राष्ट्रपति के राज्य दौरे में अनावश्यक देर तक न रोकें ट्रैफिक : सीएस

Ranchi : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के झारखंड दौरे को लेकर राज्य प्रशासन तैयारी में जुट गया है. राष्ट्रपति दो दिन (28 और 29 फरवरी) को राज्य दौरे पर रहेंगे.

इस दौरान उनका रांची, गुमला सहित देवघर में उनका कार्यक्रम होगा. कार्यक्रम की तैयारी को लेकर मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी ने गुरूवार को मंत्रालय में अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की.

advt

उन्होंने निर्देश दिया है कि आम जनता को परेशानी न हो, इसलिए राष्ट्रपति के आगमन के दौरान अनावश्यक देर तक ट्रैफिक न रोकें.

बता दें कि राष्ट्रपति 28 फरवरी को अपराह्न 4.40 बजे से 5.30 बजे तक रांची के चेरी मनातू स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी, झारखंड के कार्यक्रम में भाग लेंगे.

वे यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह का हिस्सा बनेंगे और उसके नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन करेंगे. वहीं अगले दिन 29 फरवरी को राष्ट्रपति गुमला जिले के विशुनपुर में 10.20 बजे से 11.30 बजे तक विकास भारती के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.

adv

उसी दिन दोपहर 1 बजे वे देवघर पहुंच कर बाबा वैद्यनाथ की पूजा-अर्चना करेंगे.

इसे भी पढ़ें : Ranchi:  शिक्षकों के प्रोफाइल अपडेट होने तक डीएसई, डीईओ से लेकर डाटा एंट्री ऑपरेटर तक का वेतन रुका

डायस पर रहेंगी एक तरह की कुर्सिंयां

सेंट्रल यूनिवर्सिटी के प्रतिनिधियों को निर्देश देते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान मंच पर राष्ट्रपति सहित सभी की कुर्सिंयां एक तरह की होंगी.

उनके आगमन के दौरान यूनिवर्सिटी के प्राध्यापकगण और छात्र सड़क के किनारे खड़े होकर उनका स्वागत नहीं करेंगे. कार्यक्रम के दौरान मंच और पंडाल में बैठे अतिथियों को चाय-पानी कराने पर भी रोक रहेगी. कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय धुन जैप वन के जवान बजायेंगे.

उन्होंने मंच का निरीक्षण करने का निर्देश भवन सचिव प्रवीण टोप्पो को और रांची, गुमला और देवघर जिला प्रशासन को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि कार्यक्रम स्थल तक राष्ट्रपति का वाहन सुगमता से पहुंचे और वापस लौटे.

इसके लिए सभी डीसी को कार्यक्रम स्थल का पूर्वालोकन करने का निर्देश मुख्य सचिव ने दिया.

इसे भी पढ़ें : तीन नवप्रोन्नत आइएएस को मिला विभाग, अनुसूचित जनजाति व पिछड़ा वर्ग कल्याण के संयुक्त सचिव बने अजयनाथ झा

सुरक्षा से लेकर राष्ट्रपति के रहने तक की जिम्मेदारी तय

राष्ट्रपति के कार्यक्रम को लेकर मुख्य सचिव डॉ डी के तिवारी ने उनकी सुरक्षा की समीक्षा कर जवाबदेही तय की. उन्होंने कहा कि कारकेड में एंबुलेंस के साथ उनके ब्लड ग्रुप का रक्त भी रखें.

कार्यक्रम स्थल पर चिकित्सीय व्यवस्था, पेयजल एवं शौचालय, अग्निशमन व्यवस्था सहित उनके यात्रा मार्गों की साफ-सफाई पर भी अधिकारियों को विशेष तैयारी का निर्देश उन्होंने दिया.

बैठक में गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, डीजीपी कमल नयन चौबे, प्रधान सचिव शैलेश कुमार सिंह, अजय कुमार सिंह, नितिन मदन कुलकर्णी, सचिव केके सोन, प्रवीण टोप्पो, हिमानी पांडेय, एडीजी अजय कुमार सिंह, रांची डीसी और वरीय आरक्षी अधीक्षक समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे. वहीं वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबंधित जिलों के डीसी और प्रमंडलीय आयुक्त भी जुड़े थे.

इसे भी पढ़ें : रघुवर सरकार ने जिन राशन कार्डों  को रद्द  किया,  उनमें केवल 10 प्रतिशत ही फर्ज़ी : J-PAL के अध्ययन में  खुलासा  

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close