BokaroJharkhandMain Slider

ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी बने बोकारो के लोगों को मिलेगा फिटनेस मंत्र, मेन रोड होगा ट्रैफिक फ्री जोन

विज्ञापन

Bokaro: ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी बोकारो में अब फिटनेस और स्पोर्टस को लेकर नयी पहल शुरू होगी. इसके लिए बोकारो जिला प्रशासन रोड मैप बनाने में लग गया है. देश के पहले ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी के तौर पर सेलेक्ट हो चुके इस शहर में अब हर संडे को मुख्य सड़कों पर लोग मॉर्निंग वॉक और जॉगिंग करते नजर आयेंगे. इसके लिए प्रशासन बोकारो और चास नगरपालिका के मेन रोड को ट्रैफिक फ्री जोन बनायेगा.

इसे भी पढ़ेंः facebook के जरिए प्रेमजाल में फंसाकर अश्लील वीडियो बनाया, ब्लैकमेलिंग करते पकड़ाया, धुनाई

सुबह 5 से 9 बजे तक का समय तय

शनिवार को डीसी राजेश सिंह ग्लोबल पार्टनर एक्टिव पार्टनर सिटी समिति की बैठक में शामिल हुए. इसमें डीडीसी, अपर नगर आयुक्त चास नगरपालिका, एसपी, सिविल सर्जन और दूसरे पदाधिकारियों के अलावा इंटरनेशनल ओलंपिक परिवार के मेंबर जयदीप सरकार भी उपस्थित थे. इसमें योजना बनी कि अल्टरनेट रविवार को लोगों के लिए मेन रोड पर लोगों के लिए मॉर्निंग वॉक और जॉगिंग की व्यवस्था की जायेगी. इसके लिए सुबह 5 बजे से 9 बजे तक का समय तय किया गया है.

advt

डीएसओ को जिम्मा

बोकारो के जिला खेल पदाधिकारी को ग्लोबल एक्टिव सिटी के लिए जरूरी टास्क को पूरा करने की जिम्मेदारी मिली है. वे बोकारो के स्पोर्टस ट्रेनरों, प्रोफेशनल खिलाड़ियों, स्पोर्टस सेंटरों का डाटा बेस बनाने और अपडेशन करेंगे. जानकारी के अनुसार फिलहाल बोकारो में 122 ऐसे लोगों को फाइनल कर लिया गया है जो नागरिकों को फिटनेस के गुर सिखाएंगे.

इसे भी पढ़ेंः नियोजन नीति: रघुवर के समय में ही दलीलों को सुन हाइकोर्ट ने 22 जनवरी को रखा था फैसला सुरक्षित

क्या है ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक परिवार के सदस्य जयदीप सरकार के मुताबिक  इस साल जनवरी में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी के तौर दुनियाभर से 10 शहरों को सेलेक्ट किया है. इसका मकसद लोगों में स्वस्थ जीवन शैली औऱ खेल कूद के प्रति रूझान पैदा करना है. इस प्रोग्राम के तहत भारत में बोकारो को एक्टिव पार्टनर सिटी के तौर पर सेलेक्ट किया गया है. कोरोना और लॉकडाउन के कारण फिलहाल कई प्रोग्रामों पर असर पड़ा है.

जर्मनी की लीपजिंग यूनिवर्सिटी का इंडो जर्मन स्पोर्टस वर्कशॉप का आयोजन रोकना पड़ा है. कोरोना की स्थिति सामान्य होने पर बोकारो में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के गाइडलाइन के अनुसार स्पोर्टस के लिए कई तरह की एक्टिविटी शुरू होगी. केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू और भारतीय ओलंपिक संघ की भी नजर इस प्रोग्राम पर है. अब बोकारो में लोगों में खेलों और फिटनेस के लिए रूझान बढ़ाने का नया प्रोग्राम शुरू होगा.

adv

इसे भी पढ़ेंः बॉलीवुड ड्रग्स कनेक्शन : पूर्व निर्माता क्षितिज प्रसाद को एनसीबी ने किया गिरफ्तार

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button