न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गली-मुहल्ले की बैरिकेडिंग कर लोग खुद को कर रहे आइसोलेट, गांवों में लिखकर लटकाया टोटली लॉकडाउन

112
  • राजधानी रांची समेत आसपास के इलाकों में लोगों ने किया गलियों को लॉक

Ranchi : झारखंड में अब तक कोरोना पॉजिटिव की संख्या चार हो गयी है. 24 मार्च से देशभर में कोरोना वायरस के मद्देनजर लॉकडाउन की घोषणा की गयी. जहां राज्य सरकार से लेकर जिला प्रशासन तक लॉकडाउन को सफल बनाने में लगी है. वहीं रांची वासियों में खुद भी इस महामारी के प्रति सवंदेनशीलता देखी जा रही है.

रांची के कुछ मुहल्लों में लॉकडाउन की घोषणा के बाद ही गली मुहल्लों के इंट्री प्वाइंट को ही लॉक कर दिया गया है. जबकि हिंदपीढ़ी से दूसरे कोरोना पॉजिटिव के मिलने के बाद मोहल्ले को पूरी तरह से सील कर दिया गया है.

राजधानी के अलग-अलग हिस्सों में गलियों और मुहल्लों में बाहरी लोगों के प्रवेश को वर्जित कर दिया गया है. न्यूज विंग की टीम ने गली मुहल्लों का हाल जानने के लिए अलग हिस्सों का दौरा किया.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : सीएम हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से कहा – संसाधनों की कमी से जूझ रहा राज्य, केंद्र से मदद उपलब्ध करायें

hotlips top

डोरंडा के कई इलाके 24 मार्च से हैं बंद

लोगों में कोरोना वायरस के प्रति सर्तकता का आलम यह है कि 24 मार्च रात आठ बजे प्रधानमंत्री की ओर से लॉकडाउन घोषित करते ही, क्षेत्र के हाथी खाना इलाके को पूर्णत बंद कर दिया गया. मोहल्ले के मुख्य मार्ग को बांस से घेर दिया गया. साथ ही बाहरी लोगों के प्रवेश को वर्जित कर दिया गया.

गली-मुहल्ले की बैरिकेडिंग कर लोग खुद को कर रहे आइसोलेट, गांवों में लिखकर लटकाया टोटली लॉकडाउन
डोरंडा भवानीपुर मन्दिर गली की फोटो, जहां बांस लगाकर गली को लॉक कर दिया गया.

मुहल्ले में लगभग 60 घर हैं. ऐसे में लोग पूरी तरह से अपने घरों में बंद हैं. यही हाल डोरंडा बाजार के अलग-अलग गली मुहल्लों का है. डोरंडा काली मंदिर गली भी पिछले पंद्रह दिनों से बंद है. इस मोहल्ले में लगभग पचास घर हैं. जरूरत होने पर ही लोग घरों से निकल रहे हैं.

30 may to 1 june
गली-मुहल्ले की बैरिकेडिंग कर लोग खुद को कर रहे आइसोलेट, गांवों में लिखकर लटकाया टोटली लॉकडाउन
डोरंडा के कृष्णा सिंह पार्क के सामने वाली गली को बैरिकेट कर लॉक कर दिया गया है.

डोरंडा बाजार इलाका घूमने पर जानकारी हुई कि जरूरत के सामान आसपास मिलने से  लोगों को ज्यादा परेशानी नहीं हुई. भवानीपुर मंदिर गली में 25 घर हैं. लेकिन यहां भी बांस से घेरा डालकर बाहरी लोगों के आवागमन पर रोक लगा दी गयी है. कुछ लोगों से बात हुई तो उन्होंने बताया कि मोहल्ले में पंद्रह दिनों से बाहरी लोग नहीं आये हैं. कृष्णा सिंह पार्क के सामने की गलियों में भी यही हाल है.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona: सांसदों के वेतन में 30 फीसदी कटौती, राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति भी कम लेंगे वेतन

कडरू में लोगों ने लिखा टोटल लॉकडाउन है

कडरू हज हाउस के आसपास के इलाकों में लोगों ने गलियों को लॉक कर रखा है. इन इलाकों में नगर निगम की ओर से बैरिकेडिंग की गयी है. साथ ही लोगों ने कुछ गलियों को खुद भी बांस से घेर दिया है.

कडरू स्टेशन रोड गली में नगर निगम की ओर से बैरिकेडिंग की गयी है. जिसमें लिखा है टोटल लॉकडाउन. इलाके की कुछ अन्य गलियों का हाल भी यही है. लोगों ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से ही लोगों में सर्तकता है.

गांवों को भी किया लॉक

न्यूज विंग टीम ने शहरी इलाकों के साथ-साथ कुछ गांवों का भी दौरा किया. धुर्वा स्थित साईं मंदिर इलाके में जाने पर जानकारी हुई कि कुछ गांवों को भी लोगों ने लॉक कर रखा है. जहां सड़कों को लॉक नहीं किया गया है, वहां कागज में बाहरी लोगों के प्रवेश को वर्जित बताकर नोटिस चिपकाया गया है.

गली-मुहल्ले की बैरिकेडिंग कर लोग खुद को कर रहे आइसोलेट, गांवों में लिखकर लटकाया टोटली लॉकडाउन
आनी टोली धुर्वा में गांव वालों ने लॉकडाउन लिखकर चिपका दिया है, जिससे कोई बाहरी ना आ सके.

धुर्वा से सटे कई गांवों में यही स्थिति देखी गयी. जिसमें कूटे, अनीटोला प्रमुख हैं. गांवों में भी काफी सन्नाटा देखा गया. हालांकि कुछ इलाकों में लोगों को सामान्य भी देखा गया. जगन्नाथपुर मंदिर इलाके में लोगों को सामान्य देखा गया.

इसे भी पढ़ें –#FightAgainstCorona : 16 लाख टेस्टिंग किट, 1.5 करोड़ पीपीई, 2.7 करोड़ एन95 मास्क और 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like