न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी, बिहार के लोग आते हैं, स्थानीय लोगों को जॉब नहीं मिल पाती : कमलनाथ

सोमवार को शपथ लेने के कुछ घंटों के बाद ही कमलनाथ ने राज्य के उद्योगों में 70 पर्सेंट रोजगार प्रदेश के युवाओं को देने के नियम पर हस्ताक्षर कर दिये.

834

Bhopal : मध्य प्रदेश का सीएम बनने के पहले ही दिन सीएम कमलनाथ ने किसानों के कर्ज की माफी का आदेश जारी कर दिया गया.  साथ ही युवाओं को भी लुभाने का बड़ा दांव चला. बता दें कि  सोमवार को शपथ लेने के कुछ घंटों के बाद ही कमलनाथ ने राज्य के उद्योगों में 70 पर्सेंट रोजगार प्रदेश के युवाओं को देने के नियम पर हस्ताक्षर कर दिये.  70 फीसदी रोजगार स्थानीय लोगों को देने वाले राज्य के  उद्योगों को ही इन्सेंटिंव यानी छूट दी जायेंगी. सीएम कमलनाथ ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, निवेश के लिए छूट दिये जाने की हमारी नीति उन्हीं उद्योगों के लिए होगी, जहां 70 फीसदी रोजगार मध्य प्रदेश के युवाओं को दिया जायेगा. इस क्रम में कमलनाथ ने कहा, उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों के लोग यहां आते हैं, लेकिन स्थानीय लोगों को जॉब नहीं मिल पाती. मैंने इसके लिए फाइल पर हस्ताक्षर कर दिये हैं.

रोजगार में आरक्षण के नियम की फाइल पर साइन किया

इसके अलावा उन्होंने सूबे में चार गारमेंट पार्कों की शुरुआत का भी ऐलान किया. कमलनाथ ने कहा, हमने स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के मकसद से यह पहला कदम उठाया है.  उन इंडस्ट्रीज को ही प्रमोट किया जायेगा, जो सूबे के लोगों को रोजगार में प्राथमिकता देंगे. सीएम की शपथ लेने के बाद कमलनाथ ने राहुल गांधी की ओर से किये गये किसानों की कर्ज माफी के साथ ही रोजगार में आरक्षण के नियम की फाइल पर भी साइन कर दी. कमलनाथ ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, मैंने शपथ लेने के बाद पहली फाइल किसानों के कर्ज माफी की पास की, जिसका वादा हमने चुनाव से पहले अपने वचन पत्र में किया था. सूबे में किसानों के 2 लाख रुपये तक के लोन माफ हो जायेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: