न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शहर खाली करने के लिए बार-बार आ रहा नोटिस, फिर विकास पर करोड़ों खर्च क्यों?

झरिया में विकास कार्यों पर सवाल उठा रहे लोग, मेयर ने कहा- जब तक लोग रहेंगे, विकास होता रहेगा

905

Dhanbad :  एक ओर झरिया को खाली करने की बात हो रही है, बीसीसीएल और जरेडा इसके लिए बार-बार नोटिस दे रहे हैं तो दूसरी ओर भू-धसान क्षेत्र में भी विकास के नाम पर सड़क, नाले, पुल-पुलिया बनाये जा रहे हैं, नगर निगम भी कई योजनाओं पर काम कर रही है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

 

अब झरिया की जनता को यह समझ में नहीं आ रहा है कि जब शहर को खाली करना ही है, सबको विस्थापित होना ही है तो विकास के नाम पर करोड़ो रुपये क्यों खर्च किये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : पड़ोसी ने सरकारी जमीन जोतने से रोका तो टांगी से किया हमला, छह घायल

भू-धसान क्षेत्र बताकर खाली करवा चुके हैं कॉलेज

झरिया के आर एस पी कॉलेज को भू-धसान क्षेत्र बता कर खाली करवा दिया गया लेकिन वहीं से फोरलेन सड़क भी बनाया गया. कतरास मोड़, शिमलाबहाल, भूतगड़िया, खास झरिया आदि को बीसीसीएल ने हटने का नोटिस दिया है, जबकि इन इलाकों में अभी भी नगर निगम और दूसरी योजनाओं से विकास के कई कार्य हो रहे हैं.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

जिस घनुवाड़ी मोहरीबन को पहले ही भू-धसान क्षेत्र बता कर जल्द पुनर्वास की बात जरेडा कर चुका है, उस जगह पर करोड़ों की लागत से पुल बनवाया गया, सड़क, नाला, शौचालय का निर्माण हुआ, पेवर ब्लॉक बिछाये गये. यह सब जनता की समझ से परे है.

इसे भी पढ़ें : Budget 2019: जानिये क्या-क्या हुआ सस्ता और कौन-सा सामान हुआ महंगा

कहीं पैसों की बंदरबांट तो नहीं?

स्थानीय लोगों का कहना है कि वे विकास के विरोधी तो नहीं हैं पर साथ ही ये सवाल उठा रहे हैं कि क्या सरकार जनता के पैसों को दुरुपयोग नहीं कर रही, क्या पैसों की बंदरबांट के लिए ये सारे काम किये जा रहे हैं?

लोग कह रहे हैं कि एक ओर विस्थापन करने के नाम पर लूट मची है वहीं विकास में कमीशन के नाम पर लूट मची हुई है, वरना भू-धसान और अग्नि प्रभावित स्थल पर विकास का काम नही होता.

वहीं इस मसले पर धनबाद नगर निगम के मेयर चन्द्रशेखर अग्रवाल का कहना है कि जहां और जब तक जनता रहेगी वहां विकास करना मेरा कर्तव्य है, हम तब तक विकास करेंगे.

इसे भी पढ़ें : कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में BCCL के छह बड़े अधिकारियों को शोकॉज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like