JharkhandLead NewsRanchi

ऑर्किड हॉस्पिटल में होगी पीडियाट्रिक न्यूरो क्लिनिक की शुरुआत

Ranchi : न्यूरोलॉजिकल समस्याओं से ग्रसित बच्चों के लिए रांची के आर्किड हॉस्पिटल में इलाज की व्यवस्था होने जा रही है. वर्तमान में न्यूरोलॉजिकल समस्या से ग्रसित बच्चों के इलाज की सुविधा पूर्वी क्षेत्र में उपलब्ध नहीं है. ऐसे में फोर्टिस हॉस्पिटल गुड़गांव के पीडियाट्रिक न्यूरोलॉजिस्ट डॉ आरके जैन पहली बार झारखंड में मेटाबोलिक डिसऑर्डर और सेरिब्रल पाल्सी से ग्रसित बच्चों का इलाज करेंगे. बुधवार को डॉ आरके जैन ने ऑर्किड हॉस्पिटल में न्यूरोलॉजिकल समस्याओं से ग्रसित बच्चों का इलाज कर उन्हें उचित परामर्श दिया.

इसे भी पढ़ें :रिम्स के 46 कोरोना कोविड मरीजों पर यूनानी दवाइयों का ट्रायल सफल, अब 100 मरीजों पर होगा रिसर्च

ऑर्किड अस्पताल में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान डॉ आरके जैन ने कहा कि जिन बच्चों में डेवलपमेंट डिसऑर्डर जैसे हकलाने-तुतलाने की समस्या, मानसिक पीड़ा, मांसपेशियों की कमजोरी, लगातार सर में दर्द, बच्चों में मिर्गी की परेशानी, बच्चों में अत्यधिक चंचलता के अलावे ध्यान केंद्रित होने में समस्या है उन्हें इलाज की जरूरत है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें :अमिताभ बच्चन के खाते से रुपये उड़ानेवाला जामताड़ा का सीताराम मंडल फिर गिरफ्तार

The Royal’s
Sanjeevani

अर्ली स्टेज में बीमारी की पहचान होने पर इलाज संभवः डॉ पीके गुप्ता

ऑर्किड हॉस्पिटल के चीफ एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर डॉ पीके गुप्ता ने कहा कि हमारा हमेशा से प्रयास रहा है कि झारखंड के लोगों को अपने बच्चों के इलाज के लिए बाहर नहीं जाना पड़े. इसी उद्देश्य के लिए न्यूरोलॉजिकल समस्याओं से ग्रसित बच्चों के इलाज की व्यवस्था की गयी है.

उन्होंने कहा कि ऑर्किड हॉस्पिटल प्रबंधन ने डॉ आरके जैन को बच्चों के इलाज के लिए ऑर्किड हॉस्पिटल में बुलाया है.

डॉ जैन महीने में एक बार यहां आकर बच्चों का इलाज करेंगे. डॉ पीके गुप्ता ने कहा कि यदि अर्ली स्टेज में बीमारी की पहचान हो जाती है तो न्यूरोलॉजिकल समस्या से ग्रसित बच्चों का इलाज संभव है.

इसे भी पढ़ें :कच्ची घानी तेल के नाम पर ग्राहकों की आंखों में धूल झोंक रहीं बड़ी कंपनियां

Related Articles

Back to top button