JharkhandRanchi

#Jharkhand में PDS का हाल: दुकान से बाहर निकलकर वजन करने पर कम निकलता है अनाज

विज्ञापन

Ranchi: झारखंड के ग्रामीण क्षेत्रों की बात तो छोडि़ये, राजधानी रांची से सटे हुए इलाकों में सरकारी राशन वितरण में गड़बड़ी होना आम होता जा रहा है.

राज्य सरकार ने कोरोना वायरस के वजह से खड़े हुए संकट से उबरने के लिए राज्य के 57 लाख 13 हजार कार्ड धारियों को 2 माह का अग्रिम राशन देने का फैसला लिया है.

सरकार के इस निर्णय का लाभ लाभुको को मिले या न मिले, डीलर इसका लाभ उठाने का कोई मौका नही छोड़ रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #Garhwa के क्वारेंटाइन सेंटर पर बड़ी लापरवाहीः कोरोना संदिग्ध के लिए बच्चे बना और परोस रहे खाना, प्रशासन बेखबर

एक माह का राशन दिया, दो माह की इंट्री की

मामला शुक्रवार का है. रांची जिले के बुडमू प्रखंड स्थित बाड़े गांव का डीलर एक माह का राशन देकर दो माह कार्ड में दर्ज कर रहा है.

बाडे गांव का डीलर बालमुकुंद सिंह जन वितरण प्रणाली दुकान में चावल वितरण करते समय राशन कार्ड में 70 किलो चावल की इंट्री करता है और लाभुकों को 35 से 40 किलो मात्र चावल दे रहा था.

बाडे गांव में राशन कम देने की शिकायत मिलने के बाद पंचायत समिति सदस्य अनुपा उरांव तक भी पहुची. अनुपा ने न्यूजविंग से बात करते हुए कहा- कम राश मिलने की शिकायत मिली थी.

जब राशन लेने वाले लाभुकों का राशन वजन किया गया तो कम पाया गया. कुछ कार्डधारियो के कार्ड में दो माह का राशन इन्ट्री कर एक माह का राशन ही दिया गया.

पंचायत में राशन सही रूप से वितरण हो इसके लिए मुखिया से लेकर सभी जनप्रतिनिधि लगे हुए हैं लेकिन गलत करने वाले लोगों पर तो सरकारी अधिकारी ही कार्रवाई करेंगे.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown21: गुजरात में फंसे राज्य के मजदूरों ने सीएम से मांगी मदद, वीडियो वायरल होने पर कंपनी ने देर रात पहुंचाया राशन

दुमका: प्रखंड विकास पदाधिकारी से शिकायत के बाद भी नही मिला दो माह का राशन

सूबे में कम राशन मिलने की शिकायत अक्सर की जाती है. लेकिन क्राइसिस के समय जहां राज्य सरकार ने 2 माह का राशन अग्रिम देने की घोषणा की है, ऐसे समय में पीडीएस दुकानदारों के द्वारा राशन ना देना बड़े अपराध की तरह है.

झारखंड की उपराजधानी दुमका के राजा बांध पंचायत स्थित आसनबनी गांव के कार्डधरियों को फरवरी एवं मार्च माह का राशन डीलर श्यामलाल हांसदा के द्वारा नहीं दिया गया.

इसकी शिकायत प्रखंड विकास पदाधिकारी से भी ग्रामीणों ने की. बावजूद राशन नहीं मिला है.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi के जिस इलाके से मिली पहली कोरोना पॉजिटिव वहां कूड़ा नहीं उठायेंगे #CoronaWarriors, निगमकर्मी से मारपीट पर पूर्व पार्षद की गिरफ्तारी की मांग

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: