JharkhandLead NewsNEWSRanchi

सुरक्षा को छोड़ वसूली में लगे हैं पीसीआर, 14 पुलिसकर्मी हो चुके हैं सस्पेंड

Ranchi: शहरवासियों को दिन व रात में कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़े इसके लिए शहर के हर चौक-चौराहों पर पीसीआर जवानों की तैनाती की गई है. पीसीआर जवान अपनी करतूतों की वजह से अक्सर में सुर्खियों में रहते हैं. पीसीआर में तैनात जवान कभी लॉकडाउन का खुल्लेआम उल्लंघन करते हुए बियर पार्टी करते हुए पकड़े जाते हैं तो कभी रुपये लेकर पशु तस्करों को छोड़ देते हैं. पकड़े जाने के बाद इस साल के मार्च से अबतक कुल 14 पुलिसकर्मी सस्पेंड हो चुके हैं, इसके बाद भी असंवैधानिक काम करने से बाज नहीं आ रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand: 14वें वित्त आयोग की अधूरी योजनाएं 15वें वित्त आयोग के पैसे से होंगी पूरी

25 जुलाई 2021 को पंडरा से रातू जाने वाले रोड पर पीसीआर-29 के पुलिसकर्मी पशु से लदे ट्रक को पहले तो चेकिंग के लिए रोकते हैं. फिर चेकिंग के नाम पर ट्रक ड्राइवर से पैसे लेते हुए पकड़े जाते हैं. मामले के तूल पकड़ने पर सुरेंद्र झा ने मुख्यालय-2 डीएसपी की जांच रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया था. जिसके बाद पांच जवानों को निलंबित किया गया.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में सड़कों के लिए चार से पांच सौ करोड़ लोन लेने की तैयारी

13 जून 2021 को दोपहर करीब एक बजे पीसीआर-10 के पुलिसकर्मियों ने रॉक गार्डेन के भीतर पीसीआर खड़ी की. इसके बाद सभी वहीं गार्डरूम में बैठ गए और शराब पीना शुरू कर दिया. इस वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर पुलिस की किरकिरी होने लगी. मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने पीसीआर – 10 के चार पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया है.

 

1 मार्च 2021 को पशु तस्करों को पैसे लेकर छोड़ने के मामले में रांची के एसएसपी ने पीसीआर 28 के सभी कर्मियों को तत्काल सस्पेंड कर दिया था. इनमें सहायक अवर निरीक्षक शिव चरण मुर्मू, आरक्षी लक्ष्मी नारायण बड़ाइक, आरक्षी सुनील पहाड़िया, आरक्षी लोको पहाड़िया और चालक भुवनेश्वर पासवान शामिल थे.

वरीय पदाधिकारी ने ये कहा

रांची के सिटी एसपी सौरभ ने कहा कि पीसीआर को मुख्य रूप से सुरक्षा की दृष्टिकोण से तैनात की जाती है लेकिन कुछ पीसीआर में तैनात जवान इसका नाजायज फायदा उठा रहे हैं. सिटी एसपी ने कहा कि जो भी पुलिस इस प्रकार के कामों को अंजाम देंगे उसके खिलाफ जांच रिपोर्ट के आधार कठोर निर्णय लिये जा रहे हैं.

Related Articles

Back to top button