BusinessLead NewsNational

Paytm IPO Listing : सबसे बड़े पेटीएम IPO का स्टॉक मार्केट में कमजोर डेब्यू, जानें कितने प्रतिशत गिरा शेयर

डिजिटल पेमेंट कंपनी Paytm का मार्केट वैल्यूएशन 1 लाख करोड़ के पार

Mumbai : देश के इतिहास का सबसे बड़ा IPO (Initial Public Offering) लेकर आई डिजिटल पेमेंट कंपनी Paytm गुरुवार को स्टॉक बाजार में लिस्ट हो गई. हालांकि, कंपनी के शेयर मार्केट डेब्यू कमजोर रहा. पेटीएम की पैरेंट कंपनी One 97 Communications के शेयर लिस्टिंग के बाद शुरुआती कारोबार में ही 20 फीसदी से ज्यादा गिर गए.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर कंपनी के शेयर अपने इशू प्राइस 2,150 से 9.3 फीसदी या 200 रुपये गिरकर 1,950 रुपये पर खुले. हालांकि इसके बाद शेयर की कीमतों में और गिरावट आई और स्टॉक 21 फीसदी तक गिर गए. इस दौरान ये 1,705 के इंट्रा डे लो यानी कि दिन के निचले स्तर पर पहुंच गए. कंपनी के शेयर सुबह 11.03 बजे 1,633.95 की कीमत पर दर्ज हो रहे थे. हालांकि, कमजोर डेब्यू के बावजूद कंपनी का मार्केट वैल्यूएशन 1 लाख करोड़ के पार पहुंच गया.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand Corona Update: 24 घंटे में 8 जिलों से 25 संक्रमित मिले, सबसे अधिक 12 रांची से

ये है गिरावट की वजह

मार्केट विश्लेषकों का मानना है कि पेटीएम का एक्सपेंसिव वैल्यूएशन यानी ऊंची कीमत इसके स्टॉक प्राइस में गिरावट की वजह रही है. Macquarie Research फर्म के विश्लेषकों ने एक नोट में कहा कि कंपनी के बिजनेस मॉडल में ‘फोकस और डायरेक्शन की कमी है.’ कंपनी ने यह भी कहा कि कंपनी के लिए प्रॉफिटेबल बनना अभी बड़ी चुनौती है.

18,300 करोड़ का था आईपीओ

बता दें कि डिजिटल मोबाइल पेमेंट सेक्टर की शीर्ष की कंपनी Paytm देश का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ लेकर आया था. 18,300 करोड़ का यह आईपीओ अब तक के सबसे बड़े आईपीओ- Coal India के 15,000 करोड़ के आईपीओ- से भी बड़ा था. नवंबर 10 को कंपनी का आईपीओ बंद हुआ था, जिसके बाद आज शेयर मार्केट में इसका ट्रेडिंग डेब्यू हुआ है. पेटीएम के आईपीओ को बिडिंग प्रोसेस के खत्म होने तक 1.89 गुना तक सब्सक्राइब किया गया था.

इसे भी पढ़ें : ईस्टर्न इंडिया पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप कल से, झारखंड के खिलाड़ी रवाना

शुरुआत में बहुत मिली-जुली प्रतिक्रिया

कंपनी के आईपीओ को शुरुआत में बहुत मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली थी, वहीं कई रिपोर्ट्स के अनुसार, ग्रे मार्केट में भी इसकी कीमतों में गिरावट देखी जा रही है, कंपनी ने अपने शेयरों का प्राइस बैंड 2,080 से 2,150 रुपये प्रति शेयर रखा था. रिटेल इन्वेस्टर्स न्यूनतम छह शेयरों के एक लॉट से लेकर 15 लॉट तक के लिए बोली लगा सकते थे. अपर प्राइस बैंड पर एक लॉट की कीमत 12,900 रुपये आ रही थी.

इसे भी पढ़ें : पटना में कोहरे के कारण दो ऑटो में आमने-सामने टक्कर, एक की मौत, सात गंभीर

कैसा रहा आईपीओ का सब्सक्रिप्शन?

पेटीएम के 18,300 करोड़ रुपये के आईपीओ को विदेशी संस्थागत निवेशकों ने इसे हाथों हाथ लिया. शेयर बाजार से मिली जानकारी के अनुसार, पेटीएम की मूल कंपनी One97 Communications Ltd. के आईपीओ को 4.83 करोड़ शेयरों के प्रस्ताव आकार के मुकाबले 5.24 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बोलियां मिलीं. शुरुआती दो दिन में आईपीओ को लेकर बहुत ज्यादा उत्साह ना दिखाने वाले योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) ने अपने लिए आरक्षित शेयरों से 1.59 गुना ज्यादा के लिए सब्सक्राइब किया.

इसे भी पढ़ें : डीजीपी नीरज सिन्हा आज होंगे लखनऊ रवाना, तीन दिवसीय डीजीपी कांफ्रेंस में होंगे शामिल

रिटेल निवेशकों ने 1.46 गुना ज्यादा के लिए सब्सक्राइब किया

विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने क्यूआईबी के लिए आरक्षित 2.63 करोड़ शेयरों के मुकाबले 4.17 करोड़ शेयरों के लिए अभिदान दिया. रिटेल निवेशकों ने अपने लिए आरक्षित 87 लाख शेयरों से 1.46 गुना ज्यादा के लिए सब्सक्राइब किया. वहीं गैर संस्थागत निवेशकों ने अपने लिए आरक्षित 1.31 करोड़ शेयरों में से केवल आठ प्रतिशत के लिए बोलियां दीं.

पेटीएम ने अपने 8,235 करोड़ के शेयर 100 से ज्यादा संस्थागत निवेशकों को अलॉट किया था. इसमें सिंगापुर की सरकार भी शामिल रही. Paytm के IPO में 8,300 करोड़ के शेयरों का फ्रेश इशू और बिक्री पेशकश (ओएफएस) से 10,000 करोड़ रुपये जुटाने का प्रस्ताव था.
किसने कितने शेयर बेचे

ओएफएस में पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा द्वारा 402.65 करोड़ रुपये तक, एंटफिन (नीदरलैंड्स) होल्डिंग्स द्वारा 4,704.43 करोड़ रुपये तक, अलीबाबा डॉट कॉम सिंगापुर ई-कॉमर्स द्वारा 784.82 करोड़ रुपये तक और एलिवेशन कैपिटल वी एफआईआई होल्डिंग्स द्वारा 75.02 करोड़ रुपये तक के शेयरों की बिक्री शामिल है.

 

Advt

Related Articles

Back to top button