न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

12 दिनों में धान बेचनेवाले किसानों के बकाये का करें भुगतान : सरयू राय

264
  • भुगतान नहीं होने पर अधिकारियों पर होगी कार्रवाई, 7185 किसानों का भुगतान लंबित

Ranchi: खाद्य सार्वजनिक वितरण और उपभोक्ता मामलों के मंत्री सरयू राय ने धान खरीद मामले पर किसानों का भुगतान नहीं होने पर चिंता जतायी है. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जिन जिलों में धान बेचनेवाले किसानों का भुगतान लंबित है, उनका भुगतान 12 दिनों में अवश्य कर दिया जाये. उन्होंने कहा कि भुगतान नहीं होने पर अधिकारियों पर कार्रवाई की जायेगी. गुरुवार को विभाग की मासिक समीक्षा बैठक में उपस्थित अधिकारियों को यह चेतावनी दी गयी. उन्होंने कहा कि 10 जून के बाद कोई सफाई मान्य नहीं होगी. उन्होंने कहा कि गोदामों में डेडिकेटेड कम्प्यूटर ऑपरेटर बहाल होंगे, इसके लिए प्रकिया आरंभ कर दी गयी है. इसके अलावा भी विभाग कई योजनाएं लागू करने जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – दिशोम गुरु की हार से मर्माहत नेता, कार्यकर्ता व समर्थक हेमंत को सोशल मीडिया में दे रहे सलाह, नजदीकियों पर साध रहे निशाना

Aqua Spa Salon 5/02/2020

2 लाख 28 हजार मीट्रिक टन धान खरीद हुई

Related Posts

विभागीय मंत्री को बताया गया कि किसानों से कुल 2.28 लाख मिट्रिक टन धान की खरीद हुई है. जिसके लिए 433 करोड़ रुपये की आवश्यकता है. 357 करोड़ का भुगतान बैंकों में भेजा जा चुका है. अब तक 7185 किसानों का भुगतान लंबित है. विभाग की तरफ से 34268 कुल किसानों से धान की खरीद की गई.

इसे भी पढ़ें – आचार संहिता खत्म होते ही सीएम इलेक्शन मोड में, विपक्ष अब तक फंसा है अंतर्कलह में

समस्याओं का समाधान निकालें

श्री राय ने कहा कि समस्याओं का कारण गिनाने की जगह उसका समाधान निकालें. विभाग में कोई भुगतान लंबित नहीं रहे, इसका निर्देश दिया गया है. विभाग में जितने भी पुराने भुगतान लम्बित हैं, सबको क्लियर किया जाएगा. अधिकारी अपनी क्षमता बढ़ाएं. बैठक में धान बेचनेवाले किसानों का भुगतान जिलों में लंबित रहने पर खाद्य सचिव डॉ अमिताभ कौशल ने नाराजगी जताते हुए सभी जिला आपूर्ति पदाधिकारियों को जल्द भुगतान का निर्देश दिया. सचिव ने अधिकारियों को कहा कि उज्ज्वला योजना का लक्ष्य जून माह तक पूरा कर लिया जाये. उन्होंने आपूर्ति पदाधिकारियों को माह में एक बार सभी जन वितरण दुकानदारों के साथ बैठक करने तथा बैठक का विवरण मुख्यालय को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया. बैठक में ऑफलाइन दुकानों का सत्यापन और निगरानी समितियों का गठन जल्द से जल्द करने का निर्देश भी दिया गया. बैठक में विभाग के अपर निदेशक बीएन चौबे, खाद्य निदेशक संजय कुमार भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – सरकार को चाहिए 6.30 लाख अंडे, नहीं दे पा रहा कोई महिला स्वयं सहायता समूह

Sport House

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like