न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पटना : राहुल गांधी का आज रोड शो, शत्रुघ्न सिन्हा और मीसा भारती के लिए करेंगे प्रचार

654

Patna : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज पटना में रोड शो करेंगे. साथ ही पार्टी प्रत्याशी शत्रुघ्न सिन्हा और राजद की मीसा भारती के लिए प्रचार करेंगे. शाम छह बजे शुरू होना वाला रोड शो पौने सात बजे समाप्त होगा.

कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह ने बताया कि राहुल दोपहर साढ़े तीन बजे विक्रम में भारती के लिए एक रैली को संबोधित करेंगे.

उन्होंने बताया कि शाम साढ़े चार बजे वह सिन्हा के लिए राजेन्द्र नगर में मोईनुल हक स्टेडियम से रोडशो शुरू करेंगे और यह नाला रोड के ‘टी’ प्वाइंट पर समाप्त होगा.

राजद-कांग्रेस विपक्षी महागठबंधन के तहत एक साथ लड़ रहे चुनाव

शत्रुघ्न सिन्हा जहां पटना साहिब से चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं राजद प्रमुख लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती पाटलीपुत्र लोकसभा सीट से मैदान में हैं.

राजद और कांग्रेस बिहार में विपक्षी महागठबंधन के तहत एक साथ मिल कर चुनाव लड़ रही हैं. उल्लेखनीय है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी शहर में 11 मई को एक रोडशो का आयोजन किया था.

शत्रुघ्न सिन्हा और रविशंकर प्रसाद के बीच सीधा मुकाबला

बिहार की राजधानी में दिग्गजों के बीच टक्कर है जहां शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब लोकसभा सीट लगातार तीसरी बार बचाने के लिए चुनाव मैदान में हैं. सिन्हा इस बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं और उनका मुकाबला केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से है.

पटना साहिब लोकसभा सीट पर कुल मिलाकर 18 उम्मीदवार मैदान में हैं. इस लोकसभा क्षेत्र में पूरा शहर और बाहरी क्षेत्र के कुछ हिस्से आते हैं. हालांकि इसे मुख्य तौर पर अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा और प्रसाद के बीच सीधे मुकाबले के तौर पर देखा जा रहा है.

पटना साहिब संसदीय क्षेत्र का नाम सदियों पुराने सिख गुरुद्वारे पर रखा गया है जो कि गंगा किनारे स्थित है और जहां गुरु गोविंद सिंह का जन्म हुआ था और वहां उनका बचपन बीता था. पटना साहिब सीट 2008 के सीमांकन में अस्तित्व में आयी और सिन्हा ने यहां से 2009 में जीत दर्ज की और पांच वर्ष बाद इसे बरकरार रखा.

बिहारी बाबू ने तीसरी बार भी जीत दर्ज करने का जताया पूरा भरासा

‘बिहारी बाबू’ के नाम से लोकप्रिय सिन्हा ने पटना साहिब से तीसरी बार जीत दर्ज करने का पूरा भरोसा जताया है. सिन्हा ने कहा कि मैंने पूर्व के दो चुनावों में इस सीट से बिहार में सबसे अधिक अंतर से जीत दर्ज की है. ऐसा लोगों का मेरे लिए प्यार के चलते हुआ. मैं आदतन पार्टी बदलने वाला नहीं हूं. जिन परिस्थितियों में मुझे भाजपा छोड़नी पड़ी वह सबको पता है.

सिन्हा 1990 दशक के शुरुआती वर्षों से भाजपा से जुड़े थे, भाजपा नेतृत्व के साथ उनके मतभेद नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने और उनके करीबी अमित शाह के पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद शुरू हुए. सिन्हा ने भाजपा में रहते हुए कई मौकों पर पार्टी नेतृत्व पर निशाना साधा था.

भाजपा सिन्हा की संभावनाओं को खारिज करती है. भाजपा का कहना है कि सिन्हा का पूर्व के चुनावों में प्रदर्शन पार्टी से उनके जुड़ाव के चलते था.

पटना साहिब की छह में से पांच विधानसभा सीटें भाजपा के पास : सुशील मोदी

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पटना साहिब के तहत जो छह विधानसभा सीटें हैं, उनमें से पांच भाजपा के पास हैं. ऐसा इसके बावजूद हुआ था कि विधानसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लालू प्रसाद के हाथ मिला लेने के चलते हमारी पार्टी ने काफी कड़े मुकाबले का सामना किया था.

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नीतीश अब हमारे साथ वापस आ गए हैं और रामविलास पासवान भी, जो 2009 में हमारे साथ नहीं थे. इसलिए हमारी संभावनाएं पहले से अधिक मजबूत हैं. इसके अलावा हमारे साथ नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और यह तथ्य भी है कि कांग्रेस का अब बिहार में प्रभाव नहीं है. शत्रुघ्न सिन्हा को स्वयं को भाग्यशाली समझना चाहिए यदि एक पोलिंग एजेंट भी मिल जाए.

इस बीच कांग्रेस सिन्हा के लिए काफी जोश के साथ प्रचार कर रही है. इसमें उसकी सहयोगी राजद भी सहयोग कर रही है. आप, भाकपा और माकपा जैसी पार्टियों ने ‘‘धर्मनिरपेक्षता के लिए और भाजपा को हराने’’ के लिए अपना समर्थन कांग्रेस को दे दिया है, हालांकि इसका कोई अधिक प्रभाव होने की उम्मीद नहीं है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: