BiharCourt NewsLead News

पटना हाईकोर्ट बिहार पुलिस की कार्यशैली को लेकर हुई सख्त,कहा- सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट से ऊपर हो गई है पुलिस, डीजीपी तलब

Patna: पटना हाईकोर्ट ने झंझारपुर कोर्ट के ADJ अविनाश कुमार के साथ पुलिस बदसलूकी मामले में कड़ी नाराजगी जताई है. हाईकोर्ट ने बिहार के डीजीपी के साथ-साथ मधुबनी के एसपी और मामले के आइओ को गुरुवार को कोर्ट में पेश होने का निर्देश दिया. मुख्य न्यायाधीश संजय करोल एवं न्यायाधीश एस कुमार की खंडपीठ ने बिहार पुलिस की कार्यशैली पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि हाईकोर्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाएगा.

इसे भी पढे़ं:पटना में नेशनल हेराल्ड की जमीन पर भू माफियाओं का अवैध कब्जा- कांग्रेस

एडीजे के खिलाफ हुई प्राथमिकी से नाराज हुआ हाईकोर्ट

ram janam hospital
Catalyst IAS

बुधवार को हुई सुनवाई के दौरान माननीय हाईकोर्ट को बताया गया कि बिहार पुलिस ने झंझारपुर के एडीजे अविनाश कुमार पर ही प्राथमिकी कर दी है.कोर्ट को बताया गया कि जिन पुलिसकर्मियों पर जज की पिटाई का आरोप लगा, उनके बयान पर ही जज के खिलाफ एफआइआर दर्ज करा दी गई.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

हाईकोर्ट ने इस मामले में सरकार से पूछा कि आखिर किस कानून के तहत जज के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई. क्या पुलिस सुप्रीम कोर्ट औऱ हाईकोर्ट से भी ऊपर हो गई है ? पुलिस का यह रवैया बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है.

इसे भी पढे़ं:झारखंड में अगले 8 वर्षों में PNG के 21 लाख घरेलू गैस कनेक्शन सुविधा देगी केंद्र सरकार, जानें दूसरी तैयारियों को भी

कोर्ट ने नाराजगी व्यक्त करते हुए राज्य के डीजीपी,जिले के एसपी,आइओ को अगली सुनवाई में मौजूद रहने के लिए तलब किया है. पटना हाईकोर्ट की बेंच ने बिहार के तत्कालीन डीजीपी को भी नोटिस जारी करने का आदेश दिया.

मालूम हो कि झंझारपुर के एडीजे अविनाश कुमार के साथ 18 नवंबर 2021 को उनके चैंबर में घुसकर घोघरडीहा थानेदार गोपाल कृष्णज और एएसआइ अभिमन्यु कुमार शर्मा ने मारपीट की थी और पिस्टल तान दिया था.

इसे भी पढे़ं:विपक्ष के हंगामे के कारण एक दिन पहले ही विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

Related Articles

Back to top button