BiharTODAY'S NW TOP NEWS

पटनाः आसरा गृह में एक और महिला की मौत, दो युवतियां लापता

Patna: पटना के राजीवनगर स्थित आसारा गृह की दो युवतियों की संदेहास्पद मौत का मामला अभी सुलझा भी नहीं है, वही शुक्रवार रात आसरा गृह की एक और युवती की मौत हो गई है. पीएमसीएच में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. एक और युवती की मौत से इस आसरा होम में युवतियों की मौत का आंकड़ा तीन हो गया है. वहीं, गुरुवार से दो महिलाएं लापता हो गई.

इसे भी पढ़ेंःबाल आसरा घरों पर NCPCR की रिपोर्ट खौफनाक: सुप्रीम कोर्ट

इलाज के दौरान मौत

ram janam hospital
Catalyst IAS

पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक राजीव रंजन प्रसाद ने पीटीआई को बताया कि आसरा गृह में रहने वाली अनामिका (27) को गुरुवार को गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था. उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी. साथ ही उसके शरीर में खून की कमी थी. इलाज के दौरान शुक्रवार शाम आठ बजे उसने दम तोड़ दिया. गौरतलब है कि इस आसरा गृह की 9 अगस्त से अब तक 13 लड़कियां पीएमसीएच में भर्ती हो चुकी है और ये सभी कुपोषण की शिकार हैं.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंःपुरुषों के लिए भी शादी की कानूनी उम्र 18 वर्ष की जाए: विधि आयोग

गुरुवार से दो महिलाएं लापता

वहीं, राजीव नगर पुलिस थाना प्रभारी रोहन कुमार ने बताया कि दो महिलाएं जिनकी उम्र 30 से कम है, गुरुवार को लापता हो गईं. दो युवती के पुलिसिया पहरे के बीच संदिग्ध हालत में लापता होने के मामले को लेकर आसरा गृह प्रबंधन पर सवाल उठने लगे हैं. दरअसल, युवतियों के लापता होने की जानकारी पुलिस को तीन घंटे देरी से दी गई.

इसे भी पढ़ेंःनहीं रहे जैन मुनि तरुण सागर, 51 साल की उम्र में हुआ निधन

दोनों युवतियों के लापता होने की खबर आसरा गृह प्रबंधन को गुरुवार सुबह नौ बजे ही मिल गई थी. लेकिन वहां के अफसरों ने दोपहर 12 बजे इसकी खबर राजीवनगर थाने को दी. इधर पुलिस में शिकायत दर्ज कराने से पहले आश्रय गृह ने कुछ घंटे महिलाओं की तलाश की. उन्होंने कहा कि हम आश्रय गृह के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रहे हैं ताकि यह पता चल सके कि दोनों महिलाएं कब बाहर निकलीं.

इसे भी पढ़ेंःराज्य प्रशासनिक सेवा के 35 अधिकारियों की ट्रांसफर-पोस्टिंग, दीपमाला धनबाद की कार्यपालक दंडाधिकारी बनीं

राजीव नगर पुलिस थाना क्षेत्र में स्थित आसरा गृह अगस्त महीने में उस वक्त चर्चा में आया था, जब इसमें रहने वाली दो महिलाओं की संदेहास्पद हालात में मौत हो गई थी. वही मामले के सामने आने के बाद से यह आसरा गृह प्रशासन को सौंपा गया था. हालांकि, इसके बाद यहां की व्यवस्था में सुधार लाने का दावा किया गया था. आसरा गृह में वहां के दो प्राइवेट गार्ड के अलावा महिला सिपाही, दो होमगार्ड और अन्य जवान तैनात किये गए हैं.

Related Articles

Back to top button