न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिम्स में मरीजों को चाहिए कंबल, लेकिन Wi-Fi दिलाने पर है प्रबंधन का अधिक ध्यान 

646

Ranchi: सर्दियों के मौसम में मरीजों को ठंड से बचाने की अधिक जरूरत होती है. पर रिम्स प्रबंधन मरीजों के लिए कंबल और ठंड से बचाने के उपाय की जगह वाई फाई और इंटरनेट मुहैया कराने पर अधिक ध्यान दे रहा है.

रिम्स 17 दिसंबर से मरीज और उनके परिजनों के लिए मुफ्त वाई फाई सेवा उपलब्ध करायेगा. यह सुविधा बीएसएनएल उपलब्ध करा रही है. इस सुविधा के तहत रिम्स के डाॅक्टर, नर्स, छात्र, और डॉक्टर लाभ ले सकेंगे.

Sport House

इस सेवा के तहत कोई भी व्यक्ति प्रतिदिन 500 एमबी तक 4जी सेवा का लाभ ले सकेगा. जबकि फिलहाल सबसे अधिक ध्यान देने वाली बात जो है वह यह है कि मरीजों को ठंड से बचने के लिए एक सही हाल के कंबल की है. यहां भर्ती मरीजों को अधिक ठंड पड़ने पर अपना कंबल लाना पड़ता है.

इसे भी पढ़ें- #RahulGandhi के Rape in India बयान पर लोकसभा में BJP सांसदो का हंगामा, कहा- माफी मांगे

डाॅक्टरों के लिए लगाया गया है रूम हीटर

राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में मरीजों के लिए ठंड से बचने के पुख्ता इंतजाम हो या नहीं हो पर डाॅक्टरों को ठंड ना लग जाये इसका रिम्स प्रबंधन ने पूरा ख्याल रखा है.

Mayfair 2-1-2020

रिम्स परिसर में सभी डाॅक्टरों के चेंबर में रूम हीटर लगाया गया है. जबकि रूम हीटर की व्यवस्था रिम्स के आइसीयू में भी नहीं है. जहां मरीज अधिक क्रिटिकल केस में होते हैं. रिम्स के कई विभागों के आइसीयू में लगी कई मशीनें सही से काम भी नहीं करती हैं.

इसे भी पढ़ें- #NirbhayaRapeCase: डेथ वारंट पर सुनवाई18 दिसंबर तक टली, 17 को SC में अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई

कैसी होगी वाई-फाई की सुविधा

रिम्स में उपलब्ध वाई-फाई की सुविधा के तहत कोई भी यूजर एक दिन में अधिकतम 500 एमबी तक के डाटा का इस्तेमाल कर सकता है. लिमिट खत्म होन के बाद 9 रुपये का रिचार्ज भी करा कर इस्तेमाल में लाया जा सकता है.

इसके इस्तेमाल के लिए वाई-फाई ऑन करने के बाद बीएसएनएल ब्लू टाउन को अपने मोबाईल से रजिस्टर करना होगा, जिसके बाद ओटीपी नंबर पर आयेगा और आप वाई-फाई का इस्तेमाल कर सकेंगे. वाई-फाई की कनेक्टिविटी रिम्स के प्रशासनिक भवन, ओपीडी, इनडोर, इमरजेंसी और अधीक्षक कार्यालय तक दी गयी है.

इसे भी पढ़ें- #CAB के खिलाफ SC में आज याचिका, AASU करेगी भूख हड़ताल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like