NEWS

पलामू: पांच महीने बाद सड़कों पर फिर दौड़ी यात्री बसें, रांची रूट में 25% बसों का परिचालन

विज्ञापन

झारखंड न्यूज, न्यूज झारखंड, झारखंड ताजा खबर, रांची न्यूज, धनबाद न्यूज, झारखंड लाईव, न्यूज विंग, डेली न्यूज, न्यूज अपडेट, लेटेस्ट न्यूज, राष्ट्रीय खबर, राज्य की खबरें, डेली अपडेट

Jharkhand News, News Jharkhand, Jharkhand Latest News, Ranchi News, Dhanbad News, Jharkhand Live, News Wing, Daily News, News Updates, Latest News, National News, State News, Daily Update,

पलामू, बसें, अनलॉक, रूट, Palamu, buses, unlock, route,

advt

Palamu: कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन में मिली छूट के बाद एकबार फिर झारखंड की सड़कों पर यात्री बसों का परिचालन शुरू हुआ है. वहीं पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर से पांच महीने के बाद सड़कों पर बसों का परिचालन शुरू हो गया. बसों का परिचालन शुरू होने के बाद संचालकों के चेहरे पर खुशी दिखी, लेकिन यात्रियों की संख्या में कमी दिखी. इससे संचालकों को थोड़ी मायूसी भी हुई. हालांकि, पहला दिन होने और पांच महीने के बाद परिवहन व्यवस्था के पटरी पर लौटने से बस पड़ाव में थोड़ी चहल पहल भी दिखी. 

थर्मल स्क्रीनिंग के बाद बसों में बैठाये गये यात्री 

यात्रियों को एक के बदले दो सीटों का किराया देना पड़ा. इससे पहले यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर बसों तक लाया गया. फिर उनकी थर्मल स्क्रिनिंग की गई. इसके बाद उन्हें बस में बैठाया गया. बस के चलने से पहले कंडक्टर ने कोविड-19 से जुड़े दिशा-निर्देशों के बारे में यात्रियों को जानकारी दी.
बस में एंट्री से पहले कंडक्टर ने यात्रियों से कुछ सवाल भी पूछे. कंडक्टर ने यात्रियों से पूछा कि आप कोरोना सैंपल देकर रिपोर्ट का इंतजार तो नहीं कर रहे हैं. साथ ही यात्रियों के बॉडी टेम्प्रेचर की जांच की गई. इसके बाद सभी यात्रियों को एहतियातन मास्क लगाने को कहा गया. फिर यात्रियों से उनका नाम, पता, मोबाइल नंबर आदि डिटेल कंडक्टर द्वारा रजिस्टर में दर्ज किया गया.

डबल किराया देना मुश्किल, लेकिन सुरक्षा के लिए जरूरी

एक यात्री से दो सीट का किराया लेने के संबंध में जब यात्रियों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि ये हमारे लिए मुश्किल तो है लेकिन इसमें हमारी सुरक्षा भी है. जरूरी है कि कोरोना संक्रमण के इस काल में हमें उचित दूरी बनाकर रखनी होगी. साथ ही सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा. यात्रियों ने कहा कि बस में सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन किया गया. बसों को सैनिटाइज किया गया. दो सीट का किराया देने के बाद हमें संतुष्टि है कि हमारी जान से खिलवाड़ नहीं किया जा रहा. बस संचालक मानकों का पूरी तरह से पालन कर रहे हैं.

कम रही यात्रियों की संख्या 

मेदिनीनगर के निजी बस स्टैंड पर मंगलवार को यात्रियों की संख्या काफी कम दिखी. कई बसों को 10 सवारियों को लेकर ही रवाना होना पड़ा. रांची रूट के लिए मात्र 25 प्रतिशत बसों का ही परिचालन हो पाया. इस रूट में पांच माह पूर्व तक 40 से अधिक बसें चल रही थी. कुछ रूट में एक तो किसी में एक से अधिक बसें भेजी गयी. छतरपुर, महुआडांड़, पांकी, भवनाथपुर, कजरू पांडू, चक-मनातू, रकमंडा, हरिहरगंज के लिए 1-1 बस को रवाना किया गया. 

adv

रांची का किराया 400, महुआडांड़ का 220 रुपया

मेदिनीनगर से रांची का किराया 400 वसूला गया, जबकि लातेहार के महुआडांड़ के लिए 220 रूपया किराया लिया गया. इसी तरह बिहार के इमामगंज के लिए 220, गढ़वा के 80, छतरपुर के लिए 100, और लातेहार के लिए 120 रूपया लिया गया.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button