न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार में पांच सीटों पर चुनाव लड़ सकती है लोजपा

पार्टी राजग में सम्मानजनक हिस्सा चाहती है: चिराग

214

Patna: बिहार में एनडीए के घटक दलों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर तस्वीर अभी भी साफ नहीं हो पायी है. हालांकि ये तय हो चुका है कि बीजेपी और जेडीयू बराबर-बराबर सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. इनसबके बीच लोजपा सांसद और पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने सीट साझे को लेकर कहा कि सहयोगी घटक दलों को सीटें आवंटित करने के बाद. जितनी सीटें बचेंगी उन्हें भाजपा-जदयू के बराबर-बराबर आपस में बांट लेने का वह स्वागत करेंगे.

इसे भी पढ़ेंःलालू ने भाजपा और जदयू पर कसा तंज, कहा- अब दूनो को एक साथ हराया जाएगा

सम्मानजनक सीटें चाहती है लोजपा

पटना में रविवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि हम भाजपा-जदयू के फैसले का स्वागत करते हैं. उन्होंने कहा कि अगर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर गौर करें तो उन्होंने सम्मानजनक बात की है. लोजपा राजग में सम्मानजनक हिस्सा चाहती है.चिराग ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव के समय लोजपा को सात सीटें मिली थीं, जिनमें से छह पर हम लोगों ने जीत हासिल की थी. उन्होंने कहा कि अगर लोजपा के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष के नाते बात की जाए तो मैं सात से अधिक सीट चाहूंगा. हमारी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने भी सात सीटों की मांग की थी, पर आप जब गठबंधन में शामिल हैं तो उसकी अपनी सीमा और मर्यादा होती है. आपको उसका भी ध्यान रखना होगा.

एकजुट है एनडीए 

हाल के दिनों में कुशवाहा की तेजस्वी से मुलाकात और सीट बंटवारे को लेकर फंसती पेंच के बीच लोजपा नेता चिराग पासवान ने गठबंधन में किसी भी तरह की फूट से इनकार किया है. चिराग ने कहा कि हमारी प्राथमिकता गठबंधन को मजबूत करना और नरेंद्र मोदी को 2019 में फिर प्रधानमंत्री बनाना है.

इसे भी पढ़ें: ईडी ने बनाया रिकॉर्ड, तीन साल में 33,500 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा के प्रवक्ता भगवान सिंह कुशवाहा ने कहा कि देश हित में नरेंद्र मोदी जी एकबार फिर प्रधानमंत्री बने इसको लेकर हम लोग जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं. राजग के किसी भी दल में अंतर्विरोध नहीं है बल्कि एकजुट हैं और इसी एकजुटता के साथ बिहार में लोकसभा की सभी 40 सीटे हम लोग जीतेंगे.

पांच सीटों पर लड़ेगी लोजपा ?

एनडीए के सूत्रों ने, पीटीआई से कहा कि शाह ने चिराग पासवान और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के उपेंद्र कुशवाहा सहित गठबंधन में शामिल दलों के नेताओं से बातचीत की है. वह कुछ दिनों में राज्य में चार दलों (भाजपा, जदयू, लोजपा और आरएलएसपी) में सीटें साझा करने के समझौते की घोषणा करने की दिशा में काम कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःरांची के इलाहाबाद बैंक से संयुक्त निदेशक राजीव सिंह के भाई ने फरजी दस्तावेज पर लिया कर्ज

हालांकि, लोजपा ने 2014 में सात सीटों पर चुनाव लड़ा था और इस बार उससे कम सीटों पर चुनाव लड़ने की संभावना को स्वीकार करती दिख रही है. पार्टी के एक शीर्ष नेता ने कहा कि भाजपा जदयू के लिए सीटों की उचित संख्या के लिए खुद कम सीटों पर लड़ेगी. ज्ञात हो कि 2014 के आम चुनाव के दौरान जदयू राजग का हिस्सा नहीं था.

सूत्रों की मानें तो भाजपा, जदयू, लोजपा और आरएसएलपी क्रमश: 16,16, पांच और दो सीटों पर चुनाव लड़ सकते हैं. गौरतलब है कि बिहार में 40 लोकसभा सीटें हैं और मुजफ्फरपुर या जहानाबाद में किसी एक लोकसभा सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी को राजग का समर्थन दिया जा सकता है. पिछले आम चुनाव में भाजपा ने राज्य की 30 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे और 22 सीटें जीतकर सबसे बड़े दल के रूप में उभरी थी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: