न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#WhatsAppSpyingCase में शशि थरूर की अध्यक्षता वाली संसदीय समिति 20 नवंबर को चर्चा करेगी

शशि थरूर ने समिति के सदस्यों को भेजे पत्र में कहा है कि भारतीय नागरिकों की जासूसी के लिए प्रौद्योगिकी का कथित इस्तेमाल गंभीर चिंता का विषय है

71

NewDelhi :  कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली संसद की स्थायी समिति 20 नवम्बर को अपनी बैठक में  व्हाट्सएप’ जासूसी मामले पर चर्चा करेगी. सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

शशि थरूर सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी स्थायी समिति के अध्यक्ष हैं. उन्होंने समिति के सदस्यों को भेजे पत्र में कहा है कि भारतीय नागरिकों की जासूसी के लिए प्रौद्योगिकी का कथित इस्तेमाल गंभीर चिंता का विषय है और 20 नवम्बर को समिति की अगली बैठक में इस पर चर्चा की जायेगी.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें : #InternetFreedom: के मामले में पाकिस्तान दुनिया के 10 बदतर देशों में शामिल  : रिपोर्ट

व्हाट्सएप  ने 31 अक्टूबर को भारत सरकार को सूचना दी थी कि…

फेसबुक के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप  ने 31 अक्टूबर को भारत सरकार को सूचना दी थी कि भारतीय पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं सहित कई भारतीय उपयोगकर्ताओं (यूजरों) की इज़राइली स्पाईवेयर पेगासस द्वारा जासूसी की गयी. लेकिन सूचना एवं प्रौद्योगिकी (आईटी) मंत्रालय ने दलील दी है कि उपलब्ध कराई गयी सूचना अपर्याप्त है.

सूत्रों ने बताया कि पत्र में थरूर ने समिति के सदस्यों से अपील की है कि एक प्रजातांत्रिक गणतंत्र होने के नाते  हमें पर्याप्त सुरक्षा उपाय सुनिश्चित करने होंगे ताकि किसी अनधिकृत तरीके या बाहरी उद्देश्य के लिए कार्यकापालिका की शक्तियों का दुरुपयोग न किया जा सके.

उच्चतम न्यायायलय द्वारा निजता के मौलिक अधिकार को स्पष्ट रूप से मान्यता दिए जाने को रेखांकित करते हुए थरूर ने कहा कि इस अधिकार का उल्लंघन करने वाली किसी भी कार्रवाई की वैधता, यथार्थता और आवश्यकता का विश्लेषण करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि स्थायी समिति में सत्तारूढ़ पार्टी और विपक्ष दोनों के सदस्य नागरिकों की निजता के मौलिक अधिकार की रक्षा के लिए मिलकर काम करें.

इसे भी पढ़ें :  #KartarpurCorridor के उद्घाटन से पहले 2,200 से अधिक भारतीय सिख पाक के ननकाना साहिब पहुंचे   

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

रविशंकर प्रसाद ने इन आरोपों पर व्हाट्सएप से  रिपोर्ट मांगी है

सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी संसद की स्थायी समिति के अलावा गृह मामलों की समिति भी अपनी अगली बैठक में ‘‘जासूसी’’ के मामले को उठाएगी. व्हाट्सएप ने कहा था कि उसने इजराइली निगरानी कम्पनी ‘एनएसओ ग्रुप’ के खिलाफ एक मुकदमा दायर किया है. इस ग्रुप का उस तकनीक विकसित करने में हाथ है जिसने बेनाम इकाइयों को 1,400 व्हाट्सएप उपयोगकर्ताओं के मोबाइल फोन हैक करने में मदद की.

इन उपयोगकर्ताओं में राजनयिक, सरकार विरोधी नेताओं, पत्रकार और सरकार के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं.  केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इन आरोपों पर व्हाट्सएप से एक रिपोर्ट मांगी है. व्हाट्सएप के दुनिया भर में 1.5 अरब यूजर हैं जिनमें भारत में 40 करोड़ हैं.

इसे भी पढ़ें :  #MaharashtraSuspense :  शरद पवार ने संजय राउत से मुलाकात के बाद फिर कहा,   हम विपक्ष में बैठेंगे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like