Education & CareerJharkhandRanchi

अभिभावक संघ-स्कूल प्रबंधन व शिक्षा विभाग की अगले दो दिनों में होगी बैठक, निजी स्कूलों की फीस पर होगा फैसला: शिक्षा मंत्री

Rahul Guru

Ranchi: लॉकडाउन की अवधि की फीस निजी स्कूल लेंगे या नहीं, इसका फैसला अगले दो दिनों में हो जायेगा. शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने न्यूज विंग से बात करते हुए बताया कि शिक्षा विभाग, अभिभावक मंच और स्कूल प्रबंधन के बीच अगले दो दिनों में बैठक होगी.

इसे भी पढ़ेंः न्यूज विंग के Facebook live पर डॉ राम सिंह ने कहा, स्कूलों का ट्रांसपोर्टेशन फीस लेना गलत

इसी बैठक में निजी स्कूलों की फीस पर फैसला लिया जायेगा. उन्होंने बताया कि इससे पहले कमिटी बनाकर प्रस्ताव तैयार करने का प्रयास किया गया था. अब आपसी बैठक कर फीस निर्धारण पर फैसला लिया जायेगा.

न्यूज विंग के फेसबुक लाइव में सहोदया के अध्यक्ष राम सिंह ने कहा था कि निजी स्कूल लॉकडाउन के दौरान बस की फीस नहीं वसूलेंगे. उन्होंने कहा था कि इस बावत विभाग को सहोदया की तरफ लिखित रुप से भी अवगत कराया गया था. अगर कोई स्कूल लॉकडाउन के दौरान बस फीस की वसूली करता है तो यह काफी निंदनीय है.

इस विषय पर न्यूजविंग ने झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो से बात की. उन्होंने कहा कि अगर ऐसी बात है तो वो विभाग से निश्चित तौर पर चिट्ठी उपलब्ध कराने को कहेंगे. साथ ही नियम संगत कार्रवाई करेंगे.

दो महीने से हो रहा फैसले का इंतजार

गौरतलब है कि 23 मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन के पहले चरण से ही स्कूलों की फीस पर चर्चा हो रही है. तब से लेकर अब तक यानी पिछले दो महीने से निजी स्कूलों की फीस पर होने वाले निर्णय का इंतजार ही हो रहा है. लॉकडाउन के पहले चरण में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की अपील पर झारखंड एकेडमिक काउंसिल की ओर से सभी निजी स्कूल के प्राचार्य और संचालाकों को पत्र लिखकर तत्काल स्कूल फीस नहीं लेने को कहा गया था.

शिक्षा मंत्री की इस अपील के बाद धनबाद, बोकारो, रामगढ़, कोडरमा, गिरिडीह, देवघर और लोहरदगा जिले के उपायुक्त ने भी अपने-अपने स्तर पर निजी स्कूलों को पत्र भेजकर फीस नहीं लेने को कहा था. इसके बाद एक बार फिर शिक्षा मंत्री ने कमेटी बनाकर फीस निर्धारण करने को कहा था.

इसे भी पढ़ें- #RBIGovernor ने रेपो रेट में 0.40% की कटौती की, EMI भुगतान पर दी 3 महीने की अतिरिक्त मोहलत

स्कूलों ने लेना शुरू किया फीस

शिक्षा विभाग की ओर से निजी स्कूलों की फीस को लेकर निर्णय लिये जाने के बाद निजी स्कूलों ने फीस लेना शुरू कर दिया. राज्य भर के स्कूलों ने अभिभावकों को नोटिस भेजकर पैसा जमा करने के कहा.

राज्य में डीएवी ग्रुप्स के अलावा रांची जिला में संत एंथोनी स्कूल, संत फ्रांसिस हरमू, शारदा ग्लोबल स्कूल, सच्चिदानंद स्कूल, डीएवी गांधीनगर, डीएवी बरियातू, संत जेवियर्स स्कूल, डीपीएस, सरला-बिरला स्कूल, संत फ्रांसिस, लोवाडीह ने स्कूल फीस के साथ-साथ दो महीने की बस फीस भी ले ली है.

इसे भी पढ़ें- #Lockdown4.0: रांची में रेस्टोरेंट और मिठाई दुकान से होगी होम डिलीवरी, बैठकर खाने की अनुमति नहीं

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close